WTI Cabs IPO Listing: 32% प्रीमियम पर एंट्री के बाद और चढ़े शेयर, अपर सर्किट पर पहुंचकर थमी रफ्तार

WTI Cabs IPO Listing: 32% प्रीमियम पर एंट्री के बाद और चढ़े शेयर, अपर सर्किट पर पहुंचकर थमी रफ्तार

[ad_1]

WTI Cabs IPO Listing: रेंटल कार मुहैया कराने वाली वाइज ट्रैवल इंडिया (WTI Cabs) के शेयरों की आज NSE SME पर शानदार एंट्री हुई। इसके आईपीओ को निवेशकों का धांसू रिस्पांस मिला था और ओवरऑल 163 गुना से अधिक सब्सक्राइब हुआ था। आईपीओ के तहत 147 रुपये के भाव पर शेयर जारी हुए हैं। आज NSE SME पर इसकी 195 रुपये के भाव पर एंट्री हुई है यानी कि आईपीओ निवेशकों को 32 फीसदी से अधिक लिस्टिंग गेन (WTI Cabs Listing Gain) मिला। लिस्टिंग के बाद शेयर ऊपर चढ़े। उछलकर यह 204.75 रुपये (WTI Cabs Share Price) के अपर सर्किट पर पहुंच गया यानी कि आईपीओ निवेशक अब 39 फीसदी से अधिक मुनाफे में हैं।

WTI Cabs IPO को मिला था तगड़ा रिस्पांस

डब्ल्यूटीआई कैब्स का 94.68 करोड़ रुपये का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए 12-14 फरवरी तक खुला था। इस आईपीओ को निवेशकों का तगड़ा रिस्पांस मिला था और ओवरऑल 163.46 गुना सब्सक्राइब हुआ था। इसमें क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए आरक्षित हिस्सा 106.69 गुना, नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (NII) का हिस्सा 375.56 गुना और खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित हिस्सा 108.76 गुना भरा था। इस आईपीओ के तहत 10 रुपये की फेस वैल्यू वाले 61.41 लाख नए शेयर जारी हुए हैं। इन शेयरों के जरिए जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल कंपनी वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने, आम कॉरपोरेट उद्देश्यों और इश्यू से जुड़े खर्चों को भरने में करेगी।

वर्ष 2009 में बनी वाइज ट्रैवल इंडिया (WTI) एक ट्रांसपोर्ट कंपनी है जो देश के 130 शहरों में रेंटल कार और ट्रांसपोर्टेशन सर्विसेज मुहैया कराती है। रेंटल कार्स में यह लग्जरी गाड़ियां, कोच, एसयूवी और सेडान जैसी गाड़ियां मुहैया करती है। इसके क्लाइंट्स नोकिया, इंडीग्रिड, एमेजॉन, माइक्रोसॉफ्ट, टेस्को, वेदांता, इंडिगो, कोका कोला और पैनासोनिक जैसी दिग्गज कंपनियां हैं। कंपनी के वित्तीय सेहत की बात करें तो यह लगातार मजबूत हुई है।

वित्त वर्ष 2021 में इसे 1.73 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था जो अगले वित्त वर्ष 2022 में बढ़कर 3.78 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2024 में उछलकर 10.29 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू भी सालाना 138 फीसदी से अधिक चक्रवृद्धि दर (CAGR) से उछलकर वित्त वर्ष 2023 में 249.97 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। चालू वित्त वर्ष 2023-24 की बात करें तो पहली छमाही अप्रैल-सितंबर 2023 में कंपनी को 11.33 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा और 190.17 करोड़ रुपये का रेवेन्यू हासिल हो चुका है।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )