Trade setup for today : शॉर्ट टर्म में तेजी बनी रहने की उम्मीद, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

Trade setup for today : शॉर्ट टर्म में तेजी बनी रहने की उम्मीद, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

[ad_1]

Trade setup : बाजार के वोलेटाइल रहने की उम्मीद है। अब निफ्टी के लिए 21,800-21,850 के ऊपरी स्तर पर रजिस्टेंस और 21,500 के लेवल पर मजबूत सपोर्ट दिख रहा है। बाजार जानकारों का कहना है कि निफ्टी अब इसी रेंज में कंसोलीडेट होता दिख सकता है। अगर निफ्टी निर्णायक रूप से इस रजिस्टेंस को पार करने में सफल होता है, तो आने वाले दिनों में इसमें 22,000 के लेवल से इंकार नहीं किया जा सकता है। लेकिन सपोर्ट के टूटने से इंडेक्स 21,400-21,300 के स्तर तक नीचे जा सकता है।

5 जनवरी को, बीएसई सेंसेक्स 179 अंक चढ़कर 72,026 पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स 52 अंक की तेजी लेकर 21,711 पर बंद हुआ था। डेली चार्ट पर निफ्टी ने दोजी कैंडलस्टिक पैटर्न बनाया था क्योंकि क्लोजिंग अपने ओपनिंग लेवल के करीब हुई थी। इससे बाजार की दिशा साफ न होने को संकेत मिलता है।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के नागराज शेट्टी का कहना है कि आम तौर पर ऊपरी स्तरों पर दोजी फॉर्मेशन के लिए लंबे समय तक सावधानी बरतने का संकेत होता है। लेकिन, रेंज मूवमेंट के बीच इस पैटर्न का गठन हुआ है। ऐसे में बाजार में किसी बड़ी गिरावट की संभावना नहीं है। उनका मानना है कि निफ्टी में शॉर्ट टर्म में तेजी बने रहने की संभावना बरकरार है। लेकिन आने वाले कारोबारी सत्रों में बाजार को 21,800-21,850 के स्तर पर रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

नागराज ने आगे कहा कि अगर निफ्टी 21,850-21,900 के स्तर से ऊपर जाकर मजबूती दिखाता है तो फिर इसमें 22,200 का टारगेट हासिल हो सकता है। वहीं, यहां से आने वाली किसी भी गिरावट को 21,500 के आसपास सपोर्ट मिल सकता है।

यहां आपको कुछ ऐसे आंकड़े दे रहे हैं जिनके आधार पर आपको मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में आसानी होगी। यहां इस बात का ध्यान रखें कि इस स्टोरी में दिए गए ओपन इंटरेस्ट (OI)और स्टॉक्स के वॉल्यूम से संबंधित आंकड़े तीन महीनो के आंकड़ों का योग हैं, ये सिर्फ चालू महीने से संबंधित नहीं हैं।

Nifty के लिए की सपोर्ट और रजिस्टेंस लेवल

निफ्टी के लिए पहला रजिस्टेंस 21,722 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 21,771 और 21,817 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 20,863 फिर 20,842 और 20,807 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

3 PSU स्टॉक्स से ब्रोकरेज को है बड़ी उम्मीद, जल्द ही 19% तक की देख सकते हैं तेजी

बैंक निफ्टी

निफ्टी बैंक के लिए पहला रजिस्टेंस 48,210 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 48,467 और 48,680 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 47,908 फिर 47,776 और 47,562 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

कॉल ऑप्शन डेटा

वीकली बेसिस पर 22,500 की स्ट्राइक पर 65.31 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आगे आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। 23,000 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा काल राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 42.07 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 21,600 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग देखने को मिली।

पुट ऑप्शन डेटा

21,000 की स्ट्राइक पर 64.32 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम सपोर्ट लेवल का काम करेगा। 21,700 की स्ट्राइक पर पुट राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 22.14 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 20,400 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग देखने को मिली।

36 स्टॉक्स में दिखा लॉन्ग बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली बढ़त से आमतौर पर लॉन्ग पोजीशन बनने का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन 36 शेयरों में लॉन्ग बिल्ड-अप देखने को मिला। इनमें Oracle Financial, Biocon, Hero MotoCorp, Abbott India और Indus Towers के नाम शामिल हैं।

65 स्टॉक्स में दिखी लॉन्ग अनवाइंडिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर लॉन्ग अनवाइंडिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 65 शेयरों में सबसे ज्यादा लॉन्ग लॉन्ग अनवाइंडिंग देखने के मिली उनमें GNFC, Chambal Fertilisers and Chemicals, Oberoi Realty, Gujarat Gas और India Cements के नाम शामिल हैं।

51 स्टॉक्स में दिखा शॉर्ट बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर शॉर्ट बिल्ड-अप का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 51 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट बिल्ड-अप देखने को मिला उनमें Shree Cement, Kotak Mahindra Bank, Alkem Laboratories, Piramal Enterprises और Tata Motors के नाम शामिल हैं।

35 स्टॉक्स में दिखी शॉर्ट कवरिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में होने वाली बढ़त से आमतौर पर शॉर्ट कवरिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 35 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट कवरिंग देखने को मिली उनमें Bosch, Godrej Properties, Shriram Finance, Godrej Consumer Products और Ipca Laboratories के नाम शामिल हैं।

पुट कॉल रेशियो

निफ्टी पुट कॉल रेशियो (पीसीआर) इक्विटी बाजार के मूड का इंडीकेटर होता है। निफ्टी पुट कॉल रेशियो 5 जनवरी को घटकर 1.08 हो गया जो पिछले सत्र में 1.22 था। बता दें कि 1 के ऊपर का पीसीआर इस बात का संकेत होता है कि ट्रेडर्स कॉल की तुलना में पुट ऑप्शन ज्यादा खरीद रहे हैं, जो आम तौर पर मंदी की भावना में बढ़त का संकेत होता है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )