Trade setup for today : बाजार पर मंदड़ियों की पकड़ मजबूत, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

Trade setup for today : बाजार पर मंदड़ियों की पकड़ मजबूत, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

[ad_1]

23 जनवरी को 1.5 फीसदी की बड़ी गिरावट के बाद आब बाजार आने वाले कारोबारी सत्रों में वापसी करने का प्रयास कर सकता है। लेकिन मंदड़ियों के मजबूत स्थिति में होने और डेली चार्ट पर लोअर हाई लोअर लो फॉर्मेशन की निरंतरता को देखते हुए निफ्टी के लिए ऊपरी स्तरों पर टिकना जरूरी है। मार्केट एक्सपर्ट्स का कहना है कि बाजार में आने वाले किसी उछाल में, 21,300-21,500 का स्तर काफी अहम होगा। जबकि 21,200 पर निफ्टी के लिए तत्काल सपोर्ट दिख रहा है। उसके बाद अगला बड़ा सपोर्ट 21,000 पर दिख रहा है।

23 जनवरी को बीएसई सेंसेक्स 1,053 अंक गिरकर 70,371 पर पहुंच गया जबकि निफ्टी 333 अंक गिरकर 21,239 पर बंद हुआ। निफ्टी ने डेली चार्ट पर मजबूत वॉल्यूम के साथ एक बड़ा बियरिश कैंडलस्टिक पैटर्न बनाया। यह बियरिश ट्रेंड रिवर्सल की पुष्टि थी क्योंकि क्योंकि निफ्टी ने पिछले सत्र में डेली चार्ट पर बियरिश एनगल्फिंग प्रकार का कैंडलस्टिक पैटर्न बनाया था। फार्मा और हेल्थकेयर को छोड़कर ज्यादातर सेक्टर मंदी के जाल में फंसे नजर आ रहे हैं।

एंजेल वन के तकनीकी विश्लेषक राजेश भोसले का कहना है कि वर्तमान में बाजार मंदड़ियों के मजबूत नियंत्रण में हैं, क्योंकि किसी भी मामूली उछाल के बाद बिकवाली का दबाव बन जाता है। बड़े पैमाने पर देखें तो ‘हेड एंड शोल्डर’ का गठन साफ दिखाई देता है। ये मंदी के ट्रेंड की पुष्टि करता है। ये बाजार के लिए अच्छा संकेत नहीं है। शॉर्ट टर्म में बाजार में कमजोरी बने रहने की संभावना है।

उनका मानना है कि मंथली एक्पायरी से पहले निफ्टी के लिए 21,000 स्तर के आसपास बड़ा सपोर्ट है। उन्होंने ये भी कहा वर्तमान पैटर्न को ध्यान में रखते हुए देखें तो निफ्टी निकट अवधि में 20,800 – 20,600 तक भी गिर सकता है। दूसरी ओर उनका मानना है कि किसी भी रिकवरी की स्थिति में 21,400-21,550 के स्तर के आसपास निफ्टी को रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

यहां आपको कुछ ऐसे आंकड़े दे रहे हैं जिनके आधार पर आपको मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में आसानी होगी। यहां इस बात का ध्यान रखें कि इस स्टोरी में दिए गए ओपन इंटरेस्ट (OI)और स्टॉक्स के वॉल्यूम से संबंधित आंकड़े तीन महीनो के आंकड़ों का योग हैं, ये सिर्फ चालू महीने से संबंधित नहीं हैं।

Nifty के लिए की सपोर्ट और रजिस्टेंस लेवल

निफ्टी के लिए पहला रजिस्टेंस 21,290 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 21,739 और 21,952 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 21,181 फिर 21,049 और 20,836 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

बैंक निफ्टी

निफ्टी बैंक के लिए पहला रजिस्टेंस 45,170 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 46,541 और 47,188 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 44,847 फिर 44,446 और 43,800 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

कॉल ऑप्शन डेटा

वीकली बेसिस पर 22,000 की स्ट्राइक पर 1.03 करोड़ कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आगे आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। 21,300 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा काल राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 46.54 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 22,500 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग देखने को मिली।

पुट ऑप्शन डेटा

20,500 की स्ट्राइक पर 77.9 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम सपोर्ट लेवल का काम करेगा। 21,200 की स्ट्राइक पर पुट राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 19.82 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 21,500 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग देखने को मिली।

11 स्टॉक्स में दिखा लॉन्ग बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली बढ़त से आमतौर पर लॉन्ग पोजीशन बनने का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन 11 शेयरों में लॉन्ग बिल्ड-अप देखने को मिला। इनमें Bharti Airtel, Cipla, Bajaj Auto, Sun Pharmaceutical Industries, and Godrej Consumer Products के नाम शामिल हैं।

104 स्टॉक्स में दिखी लॉन्ग अनवाइंडिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर लॉन्ग अनवाइंडिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 104 शेयरों में सबसे ज्यादा लॉन्ग लॉन्ग अनवाइंडिंग देखने के मिली उनमें Oracle Financial Services Software, AU Small Finance Bank, L&T Technology Services, REC और IRCTC के नाम शामिल हैं।

सरकारी बैंक और आईटी शेयरों में बनेगा पैसा, एफएमसीजी सेक्टर पर अंडरवेट : मनीष सोंथालिया

59 स्टॉक्स में दिखा शॉर्ट बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर शॉर्ट बिल्ड-अप का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 59 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट बिल्ड-अप देखने को मिला उनमें United Breweries, Berger Paints, SBI Life Insurance Company, DLF और Bank of Baroda के नाम शामिल हैं।

11 स्टॉक्स में दिखी शॉर्ट कवरिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में होने वाली बढ़त से आमतौर पर शॉर्ट कवरिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 11 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट कवरिंग देखने को मिली उनमें Siemens, Metropolis Healthcare, ICICI Lombard General Insurance Company, Dr Reddy’s Laboratories और Cummins India के नाम शामिल हैं।

पुट कॉल रेशियो

निफ्टी पुट कॉल रेशियो (पीसीआर) इक्विटी बाजार के मूड का इंडीकेटर होता है। निफ्टी पुट कॉल रेशियो 23 जनवरी को गिरकर 0.74 हो गया जो पिछले सत्र में 0.86 था। बता दें कि 1 के ऊपर का पीसीआर इस बात का संकेत होता है कि ट्रेडर्स कॉल की तुलना में पुट ऑप्शन ज्यादा खरीद रहे हैं, जो आम तौर पर मंदी की भावना में बढ़त का संकेत होता है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )