Trade setup for today : कंसोलीडेशन जारी रहने की उम्मीद, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

Trade setup for today : कंसोलीडेशन जारी रहने की उम्मीद, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने के लिए इन आंकड़ों पर रहे नजर

[ad_1]

Trade setup: तीन दिनों के करेक्शन के बाद बाजार में तेजी आई है, लेकिन कुल मिलाकर इसके कंसोलीडेट होने की उम्मीद है। जब तक निफ्टी ऊपरी स्तर पर 21,800 और निचले स्तर पर 21,300 के दायरे को तोड़कर बाहर नहीं निकलता इसमें कंसोलीडेशन कायम रहेगा। आने वाले सत्र में निफ्टी के लिए 21,700 के स्तर पर तत्काल रजिस्टेंस की उम्मीद है। एचडीएफसी बैंक के कारण आई वोलैटिलिटी को देखते हुए लगता है कि निफ्टी के लिए 21,550-21,500 के स्तर पर सपोर्ट होगा।

19 जनवरी को, बीएसई सेंसेक्स 496 अंक उछलकर 71,683 पर पहुंच गया, जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स 160 अंक चढ़कर 21,622 पर पहुंच गया और डेली चार्ट पर इसने दोजी जैसा कैंडलस्टिक पैटर्न बनाया।

बता दें कि बीएसई और एनएसई शनिवार 20 जनवरी को सामान्य ट्रेडिंग सेशन आयोजित कर रहे हैं। जबकि 22 जनवरी को ट्रेडिंग अवकाश घोषित किया गया है।

यहां आपको कुछ ऐसे आंकड़े दे रहे हैं जिनके आधार पर आपको मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में आसानी होगी। यहां इस बात का ध्यान रखें कि इस स्टोरी में दिए गए ओपन इंटरेस्ट (OI)और स्टॉक्स के वॉल्यूम से संबंधित आंकड़े तीन महीनो के आंकड़ों का योग हैं, ये सिर्फ चालू महीने से संबंधित नहीं हैं।

Nifty के लिए की सपोर्ट और रजिस्टेंस लेवल

निफ्टी के लिए पहला रजिस्टेंस 21,631 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 21,682 और 21,718 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 21,586 फिर 21,564 और 21,527 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

बैंक निफ्टी

निफ्टी बैंक के लिए पहला रजिस्टेंस 48,197 और उसके बाद दूसरे बड़े रजिस्टेंस 48,339 और 48,500 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स नीचे की तरफ रुख करता है तो 45,765 फिर 46,264 और 46,528 पर इसको सपोर्ट मिल सकता है।

कॉल ऑप्शन डेटा

वीकली बेसिस पर 22,500 की स्ट्राइक पर 90.12 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आगे आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। 22,500 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा काल राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 24.81 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 21,400 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग देखने को मिली।

पुट ऑप्शन डेटा

20,500 की स्ट्राइक पर 75.35 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम सपोर्ट लेवल का काम करेगा। 21,600 की स्ट्राइक पर पुट राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 33.51 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 21,100 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग देखने को मिली।

राम मंदिर उद्घाटन: 22 जनवरी को शेयर बाजार रहेगा बंद, अब शनिवार को पूरे दिन होगा कारोबार

78 स्टॉक्स में दिखा लॉन्ग बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली बढ़त से आमतौर पर लॉन्ग पोजीशन बनने का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन 78 शेयरों में लॉन्ग बिल्ड-अप देखने को मिला। इनमें IRCTC, Can Fin Homes, Atul, ONGC और Titan Company के नाम शामिल हैं।

14 स्टॉक्स में दिखी लॉन्ग अनवाइंडिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर लॉन्ग अनवाइंडिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 14 शेयरों में सबसे ज्यादा लॉन्ग लॉन्ग अनवाइंडिंग देखने के मिली उनमें Zee Entertainment Enterprises, Balrampur Chini Mills, Polycab India, Page Industries और Laurus Labs के नाम शामिल हैं।

28 स्टॉक्स में दिखा शॉर्ट बिल्ड-अप

ओपन इंटरेस्ट में बढ़त के साथ ही कीमतों में भी होने वाली गिरावट से आमतौर पर शॉर्ट बिल्ड-अप का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 28 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट बिल्ड-अप देखने को मिला उनमें IndusInd Bank, RBL Bank, Gujarat Gas, AU Small Finance Bank और Bata India के नाम शामिल हैं।

66 स्टॉक्स में दिखी शॉर्ट कवरिंग

ओपन इंटरेस्ट में गिरावट के साथ ही कीमतों में होने वाली बढ़त से आमतौर पर शॉर्ट कवरिंग का अंदाजा लगाया जाता है। ओपन इंटरेस्ट फ्यूचर परसेंटेंज के आधार पर पिछले कारोबारी दिन जिन 66 शेयरों में सबसे ज्यादा शॉर्ट कवरिंग देखने को मिली उनमें Coromandel International, IndiaMART InterMESH, ICICI Bank, Bajaj Auto और Aarti Industries के नाम शामिल हैं।

पुट कॉल रेशियो

निफ्टी पुट कॉल रेशियो (पीसीआर) इक्विटी बाजार के मूड का इंडीकेटर होता है। निफ्टी पुट कॉल रेशियो 19 जनवरी को बढ़कर 0.96 हो गया जो पिछले सत्र में 0.94 था। बता दें कि 1 के ऊपर का पीसीआर इस बात का संकेत होता है कि ट्रेडर्स कॉल की तुलना में पुट ऑप्शन ज्यादा खरीद रहे हैं, जो आम तौर पर मंदी की भावना में बढ़त का संकेत होता है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )