Tata Group का मार्केट कैप 30 लाख करोड़ के पार, इस उपलब्धि को हासिल करने वाला देश का पहला बिजनेस ग्रुप

Tata Group का मार्केट कैप 30 लाख करोड़ के पार, इस उपलब्धि को हासिल करने वाला देश का पहला बिजनेस ग्रुप

[ad_1]

टाटा ग्रुप (Tata Group) के मार्केट कैप (Market Cap) ने 30 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर लिया है। इस उपलब्धि को हासिल करने वाला यह भारत का पहला बिजनेस ग्रुप है। टाटा ग्रुप की कंपनियों के शेयरों का कुल मार्केट कैप आज 6 फरवरी को 30 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। टाटा ग्रुप ने यह उपलब्धि टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS), टाटा मोटर्स (Tata Motors), टाटा पावर (Tata Power) और इंडियन होटल्स (Indian Hotels) के मजबूत प्रदर्शन के दम पर हासिल की है।

Tata Group के शेयरों का कैसा रहा प्रदर्शन

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड के शेयरों में 2024 में अब तक 9 फीसदी से अधिक की तेजी आई है। वहीं, टाटा मोटर्स में 20 फीसदी से अधिक का उछाल आया है। टाटा पावर ने 18 फीसदी की छलांग लगाई जबकि इंडियन होटल्स ने 16 फीसदी की बढ़त हासिल की। टाटा ग्रुप की कुल 24 कंपनियां एक्सचेंजों पर लिस्ट हैं। इस बीच, तेजस नेटवर्क, टाटा एलेक्सी और टाटा केमिकल्स में इस साल अब तक 10 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है, जबकि शेष शेयरों में 1-5 फीसदी की रेंज में बढ़ोतरी हुई है।

TCS का मार्केट कैप 15 लाख करोड़ के पार

टीसीएस के शेयरों में आज 5 फरवरी को 4 फीसदी से अधिक की तेजी आई है। इसके साथ ही कंपनी का मार्केट कैप 15 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया है। इस बढ़ोतरी का श्रेय Q3FY24 में कंपनी को मिले ऑर्डर को जाता है। इसका कुल कॉन्ट्रैक्ट वैल्यू 8.1 अरब डॉलर है, जो पिछले वर्ष से 3.8 फीसदी अधिक है। मैनेजमेंट को लॉन्ग टर्म में ग्रोथ का भरोसा है। इसके साथ ही उसे चैलेंजिंग मैक्रो कंटीशन के बाद क्लाइंट इनवेस्टमेंट बढ़ने की उम्मीद है।

टीसीएस ने हाल ही में “यूके लाइफ बिजनेस” को बदलने के लक्ष्य के साथ यूके की बीमा कंपनी Aviva के साथ 15 साल की साझेदारी बढ़ाने की घोषणा की है। हालांकि डील साइज का खुलासा नहीं किया गया है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि यह 50 करोड़ डॉलर से अधिक की डील है।

Tata Motors ने की मजबूत कमाई

पिछले महीने टाटा मोटर्स के स्टॉक में मजबूत कमाई के चलते उछाल देखा गया। इसके साथ ही स्टॉक को सेमीकंडक्टर चिप की कमी का प्रभाव कम होना, कच्चे माल की कम कीमतें और मजबूत डिमांड से भी सपोर्ट मिला है। कंपनी ने सालाना 27 फीसदी की बड़ी वॉल्यूम ग्रोथ और जगुआर लैंड रोवर (JLR) डिवीजन के साथ 16.2 फीसदी EBITDA मार्जिन पोस्ट करते हुए 22 फीसदी की पर्याप्त रेवेन्यू ग्रोथ हासिल की।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )