Sensex में लगातार दूसरे दिन गिरावट, निफ्टी फिसलकर 21500 के करीब, गुरुवार को अब ऐसी रहेगी मार्केट की चाल

Sensex में लगातार दूसरे दिन गिरावट, निफ्टी फिसलकर 21500 के करीब, गुरुवार को अब ऐसी रहेगी मार्केट की चाल

[ad_1]

Stock Market Outlook: लगातार दूसरे दिन आज घरेलू मार्केट में बिकवाली का दबाव दिखा। घरेलू इक्विटी बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी आज आधे फीसदी से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुए। सेंसेक्स पर सिर्फ 10 और निफ्टी 50 पर सिर्फ 19 शेयर ही ग्रीन जोन में बंद हुए हैं। हालांकि ब्रॉडर मार्केट में खरीदारी का रुझान रहा जिसके चलते BSE पर आज ट्रेड होने वाले 3945 शेयरों में से 2137 बढ़त के साथ बंद हुए हैं। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर के मुताबिक इस समय किसी फ्रेश ट्रिगर का अभाव है तो ऐसे में वैल्यूएशन से जुड़ी चिंताओं ने मार्केट पर दबाव बनाया।

विनोद के मुताबिक चीन और यूरोजोन में मैनुफैक्चरिंग डेटा में सिकुड़न जैसे वैश्विक संकेतों ने इस साल 2024 में वैश्विक इकनॉमिक रिकवरी को लेकर चिंता बढ़ाई है। बाजार को फेड मिनट्स के रिलीज होने का इंतजार है। विनोद के मुताबिक 10 साल की अवधि वाले अमेरिका के बॉन्ड यील्ड में तेजी और डॉलर इंडेक्स में तेजी से संकेत मिल रहा है कि फेड उम्मीद के मुताबिक नरम रुख नहीं अपनाएगा।

Share Market: शेयर बाजार में निवेशकों के ₹7,000 करोड़ डूबे, सेंसेक्स लगातार दूसरे दिन लुढ़का

सेंसेक्स आज 535.88 प्वाइंट्स यानी 0.75 फीसदी गिरकर 71356.60 और निफ्टी 50 भी 148.45 प्वाइंट्स यानी 0.69 फीसदी गिरकर 21517.35 पर बंद हुआ है। निफ्टी पर आज सबसे अधिक बजाज ऑटो में तेजी रही जो 4.55 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ तो दूसरी तरफ 3.82 फीसदी की गिरावट के साथ हिंडालको टॉप लूजर रही। वहीं सेंसेक्स पर 1.69 फीसदी के उछाल के साथ इंडसइंड बैंक टॉप गेनर और 3.76 फीसदी की गिरावट के साथ जेएसडब्ल्यू स्टील टॉप लूजर रही।

सेक्टरवाइज बात करें तो निफ्टी आईटी आज ढाई फीसदी और निफ्टी मेटल डेढ़ फीसदी से अधिक टूटा है। वहीं ग्रीन जोन के इंडेक्स की बात करें तो आज सबसे अधिक तेजी निफ्टी रियल्टी और निफ्टी पीएसयू बैंक में रही। दोनों ही एक-एक फीसदी से अधिक उछाल के साथ बंद हुए हैं।

Adani Ports में टॉप लेवल पर बड़ा बदलाव, Gautam Adani संभालेंगे अब यह जिम्मेदारी

गुरुवार 4 जनवरी को कैसी रहेगी मार्केट की चाल

रूपक डे, सीनियर टेक्निकल एनालिस्ट (एलकेपी सिक्योरिटीज)

निफ्टी 21650 के सपोर्ट लेवल के नीचे आ चुका है और यह 21500 की तरफ खिसक गया। चूंकि इसने अपना सपोर्ट लेवल तोड़ दिया है तो इससे सेंटिमेंट कमजोर होने के संकेत मिल रहे हैं। ऐसे में अब अगर आने वाले कारोबारी दिनों में यह 21500 के नीचे आता है तो इससे निगेटिव सेंटिमेंट बढ़ेगा। जब तक यह 21650 के नीचे बना हुआ है, सेल-ऑन-राइज यानी मार्केट बढ़ने पर सेल पोजिशन लेने की स्ट्रैटेजी अपनाएं।

Ajit Mishra, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, टेक्निकल रिसर्च (रेलिगेयर ब्रोकिंग)

बैंकिंग और आईटी जैसे दो अहम सेक्टर्स में कमजोरी के बावजूद मार्केट में करेक्शन हेल्दी है। ऐसे में जब तक निफ्टी का 21200 लेवल बना रहता है, ट्रेडर्स को गिरावट पर खरीदारी की स्ट्रैटेजी अपनानी चाहिए। फार्मा और एफएमसीजी जैसे डिफेंसिव सेक्टर्स की बात करें तो ये आकर्षक दिख रहे हैं। ट्रेडर्स को फिलहाल आक्रामक तरीके से लॉन्ग पोजिशन लेने से बचना चाहिए।

Budget 2024 : यूरिया आयात खर्च में एक-तिहाई कमी कर सकती है सरकार

प्रशांत तापसे, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, रिसर्च (मेहता इक्विटीज)

वैश्विक स्तर पर कमजोर संकेत के चलते आज लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में मुनाफावसूली का दबाव रहा। निवेशक गुरुवार को होने वाली अमेरिकी फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (US FOMC) की बैठक से पहले सावधानी बरत रहे हैं और शेयरों में होल्डिंग घटा रहे हैं। आईटी और मेटल शेयरों पर दबाव दिखा तो पावर, रियल्टी और तेल और गैस शेयरों में खरीदारी का रुझान दिखा। पिछले कुछ हफ्ते से मार्केट में जोरदार तेजी थी तो शेयरों का वैल्यूएशन महंगा हो गया और निवेशकों ने शेयर बेचकर इस मौके को भुनाया। आगे की बात करें तो अगले वित्त वर्ष 2024-25 के बजट पेश होने की तारीख नजदीक के चलते नियर से लेकर मीडियम टर्म में मार्केट में निगेटिव रुझान के साथ अस्थिरता दिख सकती है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए सलाह या विचार एक्सपर्ट/ब्रोकरेज फर्म के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदायी नहीं है। यूजर्स को मनीकंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले हमेशा सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )