RBI के इंटरेस्ट रेट घटाने के संकेतों से स्टॉक मार्केट में आ सकता है उछाल

RBI के इंटरेस्ट रेट घटाने के संकेतों से स्टॉक मार्केट में आ सकता है उछाल

[ad_1]

RBI के रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं करने की उम्मीद है। 8 फरवरी को केंद्रीय बैंक अपनी मॉनेटरी पॉलिसी पेश करेगा। अभी रेट 6.5 फीसदी है। उम्मीद है कि केंद्रीय बैंक लगातार छठी बार रेपो रेट में बदलाव नहीं करेगा। ज्यादातर एनालिस्ट्स का यह अनुमान है। स्टॉक मार्केट भी यह मान कर चल रहा है कि फरवरी की मॉनेटरी पॉलिसी में रेपो रेट में बदलाव नहीं होगा। लेकिन, एनालिस्ट्स का कहना है कि अगर आरबीआई के गवर्नर इंटरेस्ट रेट में कमी का कोई संकेत देते हैं तो इससे मार्केट में नई तेजी दिख सकती है। आरबीआई हर दो महीने पर अपनी मौद्रिक पॉलिसी पेश करता है। रेपो रेट के बारे में फैसला आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी समिति (MPC) लेती है।

इंटरेस्ट रेट में कमी के संकेतों का बाजार पर पड़ेगा पॉजिटिव असर

एक्सिस सिक्योरिटीज पीएमएस में पोर्टफोलियो मैनेजर निशित मास्टर ने कहा, “मार्केट इंटरेस्ट रेट में कमी को लेकर आरबीआई गवर्नर के बयान पर करीबी नजर रखेगा। अगर केंद्रीय बैंक मॉनेटरी पॉलिसी में नरमी का संकेत देता है तो इससे मार्केट में नई तेजी आ सकती है।” मनीकंट्रोल के पोल के नतीजें बताते हैं कि आरबीआई 8 फरवरी को मॉनेटरी पॉलिसी में पॉलिसी रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं करेगा।

यह भी पढ़ें: Nestle India के बोर्ड ने 7 रुपये प्रति शेयर अंतरिम डिविडेंड को दी मंजूरी, 15 फरवरी को रिकॉर्ड डेट

फरवरी 2023 से आरबीआई ने पॉलिसी रेट में नहीं किया बदलाव

पोल में शामिल कई इकोनॉमिस्ट्स ने कहा कि केंद्रीय बैंक अपनी पॉलिसी के रुख में बदलाव भी नहीं करेगा। इसका मतलब है कि पिछले कुछ महीनों में आरबीआई ने जो रुख अपनाया है, वह आगे भी जारी रहेगा। केंद्रीय बैंक ने फरवरी 2023 से पॉलिसी रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं किया है। इसकी वजह यह है कि इस दौरान इनफ्लेशन आरबीआई की तय रेंज 2-6 फीसदी के बीच रहा है। लेकिन, यह देखना होगा कि अंतरिम बजट पेश होने के बाद केंद्रीय बैंक की एमपीसी किस तरह का फैसला लेती है।

पिछले कुछ समय से बैंकिंग स्टॉक्स का प्रदर्शन कमजोर

पिछले कुछ महीनों में बैंकिंग शेयरों का प्रदर्शन कमजोर रहा है। इसका असर मार्केट के ओवरऑल प्रदर्शन पर पड़ा है। बाजार सीमित दायरे में चढ़ता-उतरता रहा है। अगर केंद्रीय बैंक की तरफ से इंटरेस्ट रेट में कमी का संकेत दिया जाता है तो इससे ICICI Bank और Axis Bank के शेयरों में तेजी दिख सकती है। ऐसा होने पर मार्केट के ओवरऑल सेंटिमेंट पर पॉजिटिव असर पड़ेगा।

बैंकिंग शेयरों में तेजी का मार्केट सेंटिमेंट पर पड़ेगा असर

रेलिगेयर ब्रोकिंग में सीनियर वाइस-प्रेसिडेंट अजीत मिश्रा ने कहा कि बैंक निफ्टी के 47,000 के ऊपर टिके रहने पर ट्रेंड में बदलाव देखने को मिल सकता है। निफ्टी के लिए 22,150 पर बड़ा रेसिस्टेंस दिख रहा है। हालांकि, कुछ एक्सपर्ट्स का यह भी कहना है कि जल्द केंद्रीय बैंक के इंटरेस्ट रेट में कमी करने की उम्मीद नहीं है। दिसंबर में रिटेल इनफअलेशन 5.7 फीसदी पर पहुंच गया। इसकी वजह फूड की कीमतों में तेजी थी।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )