Market outlook: बाजार में जोरदार बिकवाली, जानिए 24 जनवरी को कैसी रह सकती है इसकी चाल

Market outlook: बाजार में जोरदार बिकवाली, जानिए 24 जनवरी को कैसी रह सकती है इसकी चाल

[ad_1]

Stock markets : आज फिन निफ्टी एक्सपायरी के दिन बाजार में जोरदार बिकवाली देखने को मिली है। सेंसेक्स, निफ्टी, निफ्टी बैंक और मिडकैप सभी में भारी बिकवाली रही है। सेंसेक्स 1053 अंक गिरकर 70,371 पर बंद हुआ वहीं निफ्टी 333 अंक गिरकर 21 हजार 239 पर बंद हुआ। आज सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग शेयरों में रही वहीं रियल्टी, PSE और मेटल शेयर दबाव में बंद हुए। फार्मा को छोड़ BSE के सभी सेक्टर इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए हैं। एनर्जी, इंफ्रा, FMCG और ऑटो शेयरों में भी गिरावट रही है। बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्सों में लगभग 3 फीसदी की गिरावट आई है।

इंडसइंड बैंक, कोल इंडिया, ओएनजीसी, अदानी पोर्ट्स और एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस निफ्टी के टॉप लूजर रहे हैं। जबकि सिप्ला, सन फार्मा, भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक और डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज निफ्टी के टॉप गेनर हैं।

कारोबार के अंत में सेंसेक्स 1053 अंक गिरकर 70,371 पर बंद हुआ है। वहीं, निफ्टी 333 अंक गिरकर 21,239 पर बंद हुआ है। बैंक निफ्टी 1043 अंक गिरकर 45,015 पर बंद हुआ है। जबके मिडकैप 1493 अंक गिरकर 46,570 पर बंद हुआ है। सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयरों में बिकवाली रही। वहीं, निफ्टी के 50 में से 40 शेयरों में बिकवाली देखने को मिली है। बैंक निफ्टी के 12 में से 11 शेयरों में बिकवाली रही है। डॉलर के मुकाबले रुपया भी आज 8 पैसे कमजोर होकर 83.15 के स्तर पर बंद हुआ है।

24 जनवरी को कैसी रह सकती है बाजार की चाल

प्रोग्रेसिव शेयर्स के निदेशक आदित्य गग्गर का कहना है कि सिप्ला और आईसीआईसीआई बैंक जैसी दिग्गज कंपनियों के मजबूत तिमाही आंकड़ों के दम पर भारतीय शेयर बाजार ने इस छोटे कारोबारी हफ्ते की शुरुआत आज मजबूती के साथ की, लेकिन शुरुआती कारोबार में ही मंदड़ियों ने मिड और स्मॉलकैप सेगमेंट में तेज बिकवाली शुरू कर दी जिससे बाजार धराशायी हो गया। कारोबारी सत्र के दूसरे भाग में बिकवाली का दबाव और बढ़ गया और निफ्टी 21,200 के सपोर्ट के नीचे फिसल गया। अंत में ये 333 अंकों की गिरावट के साथ 21,238.80 पर बंद हुआ।

3.11 फीसदी और 2.87 फीसदी की गिरावट के साथ मिड और स्मॉलकैप सेगमेंट ने फ्रंटलाइन इंडेक्स से कमजोर प्रदर्शन किया। डेली चार्ट पर निफ्टी ने एक बड़ी बियरिश कैंडल बनाई है। लेकिन निचले टाइम फ्रेम से बाजार की वापसी के संकेत मिल रहे हैं। आरएसआई में बुलिश डाइवर्जेंस के साथ निफ्टी ने एक एडवांस्ड हार्मोनिक बुलिश साइफर पैटर्न बनाया है। इस पैटर्न के मुताबिक निफ्टी के लिए ऊपरी लक्ष्य 21,550 और 21,770 पर दिख रहे हैं। जबकि 20,950 का स्तर तत्काल सपोर्ट के रूप में काम कर सकता है।

मेहता इक्विटीज के प्रशांत तापसे का कहना है कि भारतीय बाजारों में हालिया बिकवाली पिछले कुछ सत्रों में एफआईआई द्वारा की गई भारी बिकवाली के कारण हुई है। आज की बिकवाली की वजह अब तक आए मिले-जुले तिमाही नतीजे और महंगे वैल्यूएशन से जुड़ी चिंता हो सकती है। ऐसे संकेत हैं कि अमेरिका में दरों में कटौती जल्द नहीं हो सकती है। वहां महंगाई अनियंत्रित है। ऐसे में निवेशक मौजूदा वैल्यूएशन से चिंतित हैं। हालांकि 2024 के लिए भारत की विकास संभावनाएं सकारात्मक दिखाई दे रही है। लेकिन चीन और दूसरे विकासशील देशों में मंदी के कारण मांग में कमी आ सकती है। जिससे निवेशक आगे चलकर इक्विटी बाजार में जोखिम उठाने से बचते दिख सकते हैं।

Budget 2024: केडियानॉमिक्स के सुशील केडिया से जाने बजट के पहले कौन से शेयर भरेंगे दम, कहां होगी कमाई

एसएएस ऑनलाइन के संस्थापक और सीईओ श्रेय जैन का कहना है कि तकनीकी नजरिए से निफ्टी बिकवाली के दबाव में है और यह ट्रेंड आगामी सत्रों में बना रह सकता है। अगर निफ्टी को फिर से तेजी पकड़नी तो इसको 21,500-21,450 के सपोर्ट जोन को पार करके मजबूती दिखानी होगी। 21,850 निफ्टी के लिए तत्काल रजिस्टेंस के रूप में काम कर सकता है। बजट के दिन तक बाजार के एक सीमित ट्रेडिंग रेंज में घूमने की उम्मीद है। ऐसे में ट्रेडर्स को सख्ती से स्टॉप लॉस लगा कर ही ट्रेड करने की सलाह होगी।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )