ITI ने 18% उछाल के साथ लगाया न्यू हाई, एक साल में 245% भागा शेयर

ITI ने 18% उछाल के साथ लगाया न्यू हाई, एक साल में 245% भागा शेयर

[ad_1]

ITI share price : आईटीआई (ITI) का शेयर आज दोपहर के दौरान 18 प्रतिशत उछलकर 52-सप्ताह के नए उच्चतम स्तर 374.80 रुपये पर पहुंच गया। हाई वॉल्यूम पर लेन-देन होने की वजह से 16 जनवरी की दोपहर को स्टॉक में तेजी नजर आई। बीएसई और एनएसई पर संयुक्त रूप से कुल दो करोड़ शेयरों में खरीद-फरोख्त हुई। ये वॉल्यूम क्रमशः एक सप्ताह और एक महीने के रोजाना कारोबार के औसत 30 लाख और 39 लाख शेयर से कहीं ज्यादा है। पिछले वर्ष स्टॉक में 245 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है। इसमें से अधिकांश बढ़त पिछले छह महीनों में आई है। इस महीने स्टॉक अस्थिर रहा है और ये अपने नुकसान को कम करते हुए 12 जनवरी से ऊपर की ओर बढ़ रहा है।

दोपहर 2 बजे, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर ITI 16 प्रतिशत बढ़कर 368.20 रुपये पर कारोबार कर रहा था।

सितंबर में स्टॉक बढ़ना शुरू हुआ। जब कंपनी ने कहा कि उसने स्मैश ब्रांड नाम के तहत लैपटॉप और माइक्रो पीसी बनाये हैं। इससे भारत में लैपटॉप मैन्युफैक्चरिंग में कंपनी के प्रवेश का संकेत मिला।

दिसंबर में शेयर वॉल्यूम में बढ़ोतरी के बाद कंपनी को एक बयान जारी करना पड़ा। इस बयान में 21 दिसंबर को कहा गया, “हम यह पुष्टि करना चाहते हैं कि आज की तारीख में ऐसा कोई मामला/घटना नहीं है। जिसके बारे में स्टॉक एक्सचेंजों बताना बाकी है। जिसका कंपनी के शेयर के भाव/वॉल्यूम पर असर पड़ सकता है।”

“जहां तक ​​शेयरों के कारोबार की मात्रा/शेयर के भाव का संबंध है, यह पूरी तरह से बाजार की स्थितियों पर आधारित है। कंपनी मात्रा या शेयर के भाव में किसी भी वृद्धि या गिरावट या शेयर बाजार की स्थितियों में किसी भी बदलाव के लिए जिम्मेदार नहीं है।”

डीलर्स ने एक शेयर में कराई जोरदार खरीदारी और दूसरे में बंपर बिकवाली, जानें स्टॉक्स के नाम

ITI कंपनी ने हाल ही में कहा कि मुकेश मंगल को तीन साल के लिए या सेवानिवृत्ति की तारीख तक या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, बोर्ड में सरकारी निदेशक नियुक्त किया गया था।

सितंबर में समाप्त तिमाही के लिए, आईटीआई ने 246.47 करोड़ रुपये की शुद्ध बिक्री दर्ज की, जो कि एक साल पहले की अवधि से 24.76 प्रतिशत अधिक है। लेकिन इसका घाटा 25.38 फीसदी बढ़कर 125.80 करोड़ रुपये हो गया. तिमाही के लिए EBITDA 43.19 करोड़ रुपये पर नकारात्मक था, जो साल-दर-साल 12.65 प्रतिशत की गिरावट को दर्शाता है।

कंपनी ने हाल ही में कहा कि मुकेश मंगल (Mukesh Mangal) को तीन साल के लिए या सेवानिवृत्ति की तारीख तक या अगले आदेश तक में जो भी पहले हो, बोर्ड में सरकारी निदेशक नियुक्त किया गया था।

सितंबर में समाप्त तिमाही के लिए, आईटीआई ने 246.47 करोड़ रुपये की शुद्ध बिक्री दर्ज की। जो कि एक साल पहले की अवधि से 24.76 प्रतिशत अधिक है। लेकिन इसका घाटा 25.38 प्रतिशत बढ़कर 125.80 करोड़ रुपये हो गया। तिमाही के लिए EBITDA 43.19 करोड़ रुपये पर निगेटिव रहा। इसमें साल-दर-साल 12.65 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है।

डिस्क्लेमर: (यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है। यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें। मनीकंट्रोल की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है।)

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )