HDFC बैंक की दिक्कतें सिर्फ कुछ समय के लिए हैं, आगे बैंकिंग शेयर पकड़ेंगे रफ्तार : गुरमीत चड्ढा

HDFC बैंक की दिक्कतें सिर्फ कुछ समय के लिए हैं, आगे बैंकिंग शेयर पकड़ेंगे रफ्तार : गुरमीत चड्ढा

[ad_1]

कंप्लीट सर्कल के मैनेजिंग पार्टनर और सीआईओ गुरमीत चड्ढा का कहना है कि मौजूदा समय में निफ्टी बैंक में दबाब है मगर प्राइवेट बैंक अच्छा कर सकते हैं। उन्होंने आगे कहा कि वे AXIS BANK, SBI, बैंक ऑफ बड़ोदा पर बुलिश हैं। गुरमीत चड्ढा ने सीएनबीसी-आवाज़ से हुई इस बातचीत में आगे कहा कि अमेरिका में महंगाई बढ़ने और इसके चलते रेट कट में देरी होने की संभावना के चलते बाजार आज सुबह कमजोरी के साथ खुला। जब तक अमेरिका में रेट कट की स्थिति साफ नहीं होती तब तक बाजार में इस तरह के उतार-चढ़ाव आते रहेंगे। लेकिन बाजार में कोई ढांचगत कमजोरी नहीं है।

एचडीएफसी बैंक में सुधार के लिए थोड़ा लंबा होगा इंतजार

एचडीएफसी बैंक पर बात करते हुए गुरमीत चड्ढा ने बताया कि उनके पोर्टफोलियो में इस स्टॉक की 3-4 फीसदी हिस्सेदारी है। ऐसे में इस समय एचडीएफसी बैंक को देखकर निराशा हो जाती है। एचडीएफसी बैंक के लिए चुनौती ये है कि इसको ग्रोथ भी बनाए रखनी है और मार्जिन भी अच्छा बनाए रखना है। इसके अलावा समय बढ़ने के साथ ही एडवांसेज की दरें भी बढ़ रही हैं। ऐसे में स्टॉक में सुधार के लिए थोड़ा लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। एचडीएफसी बैंक की समस्या कुछ समय की है। RBI लिक्विडिटी बढ़ने पर CRR कट कर सकता है। इसके अलावा जैसे-जैसे रेट कट होना शुरू होगा सारे बैंक अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

निफ्टी बैंक में आएगी तेजी

उन्होंने आगे कहा कि परेशानी हर जगह है लेकिन फाइनेंशियल्स की बात करें तो ईपीएस पिछले 2 साल में डबल हो गए हैं। लेकिन बैंक निफ्टी इस अवधि में 41 हजार से सिर्फ 45 हजार आया है। यानी इसमें सालाना आधार पर सिर्फ 10 फीसदी की बढ़त हुई है। जबकि ईपीएस में सालाना 40-50 फीसदी की बढ़त हुई है। ऐसे में कुछ समय बाद निफ्टी बैंक में तेजी आएगी। ये तेजी एचडीएफसी बैंक की लीडरशिप में आएगी या किसी और बैंक की लीडरशिप में ये देखना होगा।

Market outlook : बाजार निचले स्तर से सुधरकर बढ़त पर हुआ बंद, जानिए 15 फरवरी को कैसी रह सकती है इसकी चाल

प्राइवेट बैंकों पर बढ़ाया वेटेज

गुरमीत ने आगे कहा कि वे इन बातों को ध्यान में रखते हुए प्राइवेट बैंकों पर अपना वेटेज बढ़ा रहे हैं। वर्तमान वैल्यूएशन पर बैंक शेयर अच्छे नजर आ रहे हैं। गुरमीत ने ये भी बताया कि नतीजों के बाद उन्होंने अपने पोर्टफोलियो में ऑटो सेक्टर में महिंद्रा एंड महिंद्रा में वेटेज बढ़ाया है। आईटीसी में भी नतीजों के बाद खरीदारी की है। बैट के स्टेक सेल का मुद्दा खत्म होने के बाद आईटीसी के तेजी पकड़ने की उम्मीद है। आईटीसी इस समय अच्छे वैल्यूएशन और अच्छे डिविडेंड यील्ड पर है।

स्मॉल और मिड कैप में भी एक्सपोजर बढ़ाया

गुरमीत ने बताया कि उन्होंने स्मॉल और मिड कैप में भी थोड़ा एक्सपोजर बढ़ाया है। बिल्डिंग मटेरियल और रेलवे स्टॉक में भी निवेश बढ़ाया है। अभी-अभी सरकार ने म्यांमार से लगी 1700 किमी लंबी सीमा की फेंसिंग का फैसला लिया है। इससे एनबीसीसी, जेनटेक्नोलॉजी जैसी कंपनियों को फायदा होगा ये भी गुरमीत के राडार पर हैं। पीएसयू में पावर ग्रिड, एनबीसीसी, बैंक ऑफ बड़ोदा और हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स गुरमीत को पसंद हैं।

गुरमीत को लगता है कि आईटी में इस समय वैल्यूएशन थोड़े महंगे हो गए हैं। ऐसे में उन्होंने आईटी शेयरों में कुछ मुनाफावसूली की है, पूरी तरह से बाहर नहीं हुए हैं। इसके अलावा कुछ केमिकल शेयरों में भी पिछली तिमाही में वेटेज कम किया गया था।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )