Goldman Sachs ने 2024 के लिए Nifty का टारगेट बढ़ाया, अब इस सूचकांक के 23,500 तक पहुंचने का अनुमान

Goldman Sachs ने 2024 के लिए Nifty का टारगेट बढ़ाया, अब इस सूचकांक के 23,500 तक पहुंचने का अनुमान

[ad_1]

ग्लोबल इनवेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैक्स (Goldman Sachs) ने निफ्टी में बढ़त को लेकर अपने अनुमान में बदलाव किया है। गोल्डमैन ने अब साल 2024 में निफ्टी के लिए 23,500 का टारगेट तय किया है। इससे पहले इनवेस्टमेंट बैंक ने निफ्टी (Nifty) के लिए 21,800 का टारगेट रखा था। गोल्डमैन ने उस वक्त ग्लोबल ग्रोथ कम रहने, चाइनीज ग्रोथ में सुस्ती, ऊंची ब्याज दरों और भूराजनीतिक मोर्चे पर अनिश्चितता को ध्यान में रखते हुए यह टारगेट तय किया था।

हालांकि, हालिया घटनाक्रमों की वजह से ग्लोबल ग्रोथ और ब्याज दरों को लेकर माहौल अनुकूल बना है। गोल्डमैन सैक्स की रिपोर्ट के मुताबिक, दिसंबर में अमेरिकी फेडरल रिजर्व के ऐलान के बाद से माहौल में बदलाव हुआ है।

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘इस ऐलान के बाद अमेरिका के लिए 2024 की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान बढ़ाकर 2.3 पर्सेंट कर दिया गया है। जहां तक ब्याज दरों का सवाल है, तो गोल्डमैन सैक्स के अमेरिकी अर्थशास्त्रियों को अब फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर में कटौती की उम्मीद है। उनके मुताबिक, 2014 में पांच बार ब्याज दर में कटौती हो सकती है और इसकी शुरुआत मार्च में होगी, जबकि इससे पहले 2024 में सिर्फ एक बार कटौती का अनुमान था।’

गोल्डमैन सैक्स के नए निफ्टी टारगेट का मतलब 2024 के लिए रुपये के लिहाज से 9 पर्सेंट और डॉलर के लिहाज से 12 पर्सेंट रिटर्न है।

मजबूत घरेलू वजहें 

फर्म के अर्थशास्त्रियों ने कई अन्य देशों में भी ब्याज दरों में कटौती का अनुमान पेश किया है। इसके तहत रिजर्व बैंक (RBI) कैलेंडर ईयर 2024 की तीसरी तिमाही में ब्याज दरों में कटौती कर सकता है, जबकि इससे पहले चौथी तिमाही में कटौती का अनुमान जताया गया था। गोल्डमैन सैक्स के मुताबिक, 2024 में भारत की जीडीपी ग्रोथ (GDP growth) 6.2 के आसपास रह सकती है। भारत में विदेशी मुद्रा का भंडार भी फिलहाल पर्याप्त है। इसके अलावा करेंट एकाउंट डेफिसिट में भी गिरावट है और शेयर बाजार में भी निवेश में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही, विदेशी कर्ज भी नियंत्रण में है।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )