EaseMyTrip: 52 वीक हाई पर स्टॉक, एक महीने में दिया म्यूचुअल फंड से ज्यादा रिटर्न, कंपनी जुटा सकती है और कैपिटल

EaseMyTrip: 52 वीक हाई पर स्टॉक, एक महीने में दिया म्यूचुअल फंड से ज्यादा रिटर्न, कंपनी जुटा सकती है और कैपिटल

[ad_1]

Easy Trip Planners: पिछले काफी वक्त से देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए सरकार का काफी फोकस बना हुआ है। वहीं हाल ही में सरकार की ओर से कई टूरिस्ट जगहों को भी प्रमोट किया जा रहा है, जिसकी फायदा ट्रैवल से जुड़ी हुई कंपनियों को भी मिलेगा। इस बीच EaseMyTrip के शेयर में भी काफी तेजी देखने को मिली है। एक महीने में ही शेयर की कीमत में 20 फीसदी से ज्यादा का इजाफा देखने को मिला है, जो कि कई म्यूचुअल फंड से भी ज्यादा है। कंपनी का साल 2021 में ही IPO आया था। वहीं अब कंपनी का स्टॉक 52 वीक हाई पर भी पहुंच गया है।

एक महीने में शानदार रिटर्न

निवेशक ऐसे शेयरों की रिसर्च में रहते हैं जो कि उन्हें म्यूचुअल फंड से भी ज्यादा का रिटर्न दे सके। ऐसे में EaseMyTrip ऐसी ही स्टॉक लिस्ट में शामिल है, जिसने एक महीने के भीतर ही अपने निवेशकों को दमदार रिटर्न मुहैया करवाया है। एक महीने पहले 8 जनवरी 2024 को EaseMyTrip का एनएसई पर क्लोजिंग शेयर प्राइज 43.35 रुपये था। जो कि अब बढ़कर 7 फरवरी 2024 को एनएसई पर 53 रुपये पर पहुंच चुका है। इसके साथ ही कंपनी के स्टॉक में एक महीने में ही एनएसई पर 9.65 रुपये यानी 22.26% की तेजी देखने को मिली है।

52 वीक हाई पर स्टॉक

शेयर फिलहाल अपने 52 वीक हाई पर कारोबार करता हुआ दिखाई दे रहा है। कंपनी का एनएसई पर 52 वीक हाई 53.60 रुपये है तो वहीं इसका 52 वीक लो प्राइज 37 रुपये है। कंपनी का 6 महीने का रिटर्न करीब 30 फीसदी का रहा है और इसका 1 साल में रिटर्न करीब 5.68 फीसदी रहा है। वहीं हाल ही में कंपनी की बोर्ड बैठक भी हुई है। जिसमें कई अहम फैसले लिए गए।

कैपिटल जुटा सकती है कंपनी

इस बोर्ड मीटिंग में कंपनी की ओर से कैपिटल जुटाने का फैसला किया गया है। साथ ही प्रशांत पिट्टी को अगले पांच साल के लिए कंपनी का एमडी नियुक्त किया गया है। वहीं शेयरधारकों की मंजूरी के लिए पोस्टल बैलेट नोटिस को भी अप्रूव किया गया है। इसके साथ ही ऑथोराइज्ड शेयर कैपिटल में शेयरधारकों की मंजूरी के अधीन इजाफा करने का फैसला किया गया है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दी गई राय एक्सपर्ट की निजी राय होती है। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए जिम्मेदार नहीं है। यूजर्स को मनीकंट्रोल की सलाह है कि निवेश से जुड़ा कोई भी फैसला लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )