Dalal Street Week Ahead: इस हफ्ते किस दिशा में बढ़ेगा बाजार; कंपनियों के Q3 नतीजों, थोक महंगाई आंकड़ों, लाल सागर तनाव समेत ये अहम फैक्टर करेंगे तय

Dalal Street Week Ahead: इस हफ्ते किस दिशा में बढ़ेगा बाजार; कंपनियों के Q3 नतीजों, थोक महंगाई आंकड़ों, लाल सागर तनाव समेत ये अहम फैक्टर करेंगे तय

[ad_1]

Dalal Street Week Ahead: आईटी कंपनियों के अच्छे तीसरी तिमाही नतीजों के चलते गुजरे सप्ताह शेयर बाजार बढ़त में बंद हुए। 12 जनवरी को समाप्त सप्ताह में बाजार एक नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। इंडेक्स हैवीवेट रिलायंस इंडस्ट्रीज के नई ऊंचाई पर पहुंचने से भी मार्केट सेंटिमेंट को बूस्ट मिला। बीते सप्ताह के दौरान निफ्टी50, 184 अंक बढ़कर 21,895 पर पहुंच गया, और बीएसई सेंसेक्स 542 अंक उछलकर 72,568 पर पहुंच गया। निफ्टी मिडकैप 100 और स्मॉलकैप 100 सूचकांकों ने बेंचमार्क से कमजोर प्रदर्शन किया, जो क्रमशः 0.25 प्रतिशत और 0.7 प्रतिशत बढ़ गए। आने वाले सप्ताह में निफ्टी50, 22,000-22,100 के स्तर तक चढ़ सकता है। लेकिन रुक-रुक कर कंसोलिडेशन से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। प्रमुख रूप से ध्यान कॉरपोरेट आय पर रहने वाला है। आने वाले सप्ताह में शेयर बाजार किस दिशा में मूव करेंगे, ये जिन 10 अहम फैक्टर्स से तय होगा, आइए डालते हैं उन पर एक नजर…

तिमाही आय

अगले सप्ताह भी मुख्य फोकस कंपनियों के तीसरी तिमाही नतीजों पर होगाा। आने वाले सप्ताह में लगभग 200 कंपनियां अपने दिसंबर तिमाही के आंकड़े जारी करेंगी, जिनमें प्रमुख रूप से रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, एलटीआईमाइंडट्री, इंडसइंड बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट और जियो फाइनेंशियल सर्विसेज पर नजर रहेगी। इसके अलावा एंजेल वन, फेडरल बैंक, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, जिंदल सॉ, एलएंडटी टेक्नोलॉजी, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, क्रेडो ब्रांड्स मार्केटिंग, नेटवर्क18 मीडिया एंड इनवेस्टमेंट्स, टीवी18 ब्रॉडकास्ट, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस, इनोवा कैपटैब, जिंदल स्टेनलेस, पॉलीकैब इंडिया, पूनावाला फिनकॉर्प, हिंदुस्तान जिंक, वन 97 कम्युनिकेशंस (पेटीएम), आरबीएल बैंक और आईआरईडीए के आंकड़ों पर भी ध्यान दिया जाएगा।

घरेलू आर्थिक डेटा

आर्थिक आंकड़ों के मोर्चे पर, दिसंबर के लिए थोक महंगाई के आंकड़े 15 जनवरी को जारी किए जाएंगे। विशेषज्ञों को उम्मीद है कि थोक महंगाई बढ़ेगी। नवंबर में यह 0.26 प्रतिशत रही थी। दिसंबर के लिए यात्री वाहन बिक्री और व्यापार संतुलन डेटा की घोषणा भी 15 जनवरी को की जाएगी। विदेशी मुद्रा भंडार का डेटा 19 जनवरी को जारी किया जाएगा।

वैश्विक आर्थिक डेटा

वैश्विक मोर्चे पर, बाजार भागीदार 17 जनवरी को जारी होने वाले Q4-CY23 के लिए चीन की तिमाही जीडीपी और इंडस्ट्रियल कैपेसिटी यूटिलाइजेशन नंबर्स पर नजर रखेंगे। चीन की अर्थव्यवस्था 2023 की जुलाई-सितंबर अवधि में 4.9 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी। इसके अलावा, फोकस अमेरिकी नौकरियों के आंकड़ों, यूरोप की दिसंबर महंगाई, अमेरिका और चीन में दिसंबर की खुदरा बिक्री आंकड़ों पर भी होगा।

Image1512012024

वैश्विक निवेशक लाल सागर के साथ भू-राजनीतिक तनाव पर भी करीब से नजर रखेंगे। लाल सागर शिपिंग पर ईरान-सहयोगी हूती विद्रोहियों के हमलों के जवाब में संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम ने 11 जनवरी को यमन में हूती विद्रोहियों पर कई हवाई हमले किए। इससे मध्य पूर्व में तनाव और अधिक बढ़ गया, जो पिछले साल अक्टूबर में इजराइल-हमास युद्ध के बाद से शुरू हुआ था। अमेरिका और ब्रिटेन के हवाई हमलों के बाद 12 जनवरी को अमेरिका के नेतृत्व वाले बहुराष्ट्रीय गठबंधन ‘कंबाइंड मैरीटाइम फोर्सेज’ की सलाह के जवाब में, हाफनिया, टॉर्म और स्टेना बल्क सहित दुनिया की कई प्रमुख टैंकर कंपनियों ने लाल सागर की ओर यातायात रोक दिया।

Maxposure Limited IPO: 15 जनवरी से लगा सकेंगे पैसे; जानिए प्राइस बैंड, लॉट साइज, GMP समेत बाकी डिटेल

तेल की कीमतें

यमन के हूती-नियंत्रित क्षेत्रों में अमेरिका और ब्रिटेन के हवाई हमलों के बाद लाल सागर क्षेत्र में तनाव और बढ़ने के साथ, सारा ध्यान तेल की कीमतों पर होगा। ब्रेंट क्रूड वायदा पिछले शुक्रवार को इंट्राडे में 80 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गया और 78.29 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। लेकिन यह अभी भी सप्ताह के निचले स्तर 75.26 डॉलर से ऊपर है। विशेषज्ञों का मानना है कि भूराजनीतिक तनाव तेल की कीमतों को सपोर्ट देता रहेगा।

दिसंबर में महत्वपूर्ण खरीदारी के बाद, विदेशी संस्थागत निवेशक जनवरी माह में भारतीय इक्विटीज में से पैसे निकालने लगे हैं। अमेरिकी 10-वर्षीय बॉन्ड यील्ड में उछाल और मुनाफावसूली के कारण ऐसा हो सकता है। जैसे-जैसे केंद्रीय बजट 2024 पेश किए जाने की तारीख करीब आएगी, विदेशी निवेशकों के फ्लो पर भी नजर रखना महत्वपूर्ण होगा। 12 जनवरी को समाप्त सप्ताह में एफआईआई ने शुद्ध रूप से 3,900 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं और चालू माह के लिए, कैश सेगमेंट में उनकी शुद्ध बिक्री 600 करोड़ रुपये से थोड़ी अधिक थी। शुक्रवार को 3.94 प्रतिशत पर समाप्त होने से पहले, सप्ताह के दौरान अमेरिका की 10-वर्षीय ट्रेजरी यील्ड 4 प्रतिशत से अधिक हो गई।

घरेलू संस्थागत निवेशक भी इस महीने 438 करोड़ रुपये के शुद्ध विक्रेता रहे, लेकिन बीते सप्ताह के दौरान उन्होंने कैश सेगमेंट में 6,858 करोड़ रुपये की मजबूत खरीदारी की, जिससे बाजार को नई ऊंचाई पर पहुंचने में मदद मिली।

आने वाले सप्ताह में प्राइमरी मार्केट की गतिविधियों में थोड़ी तेजी दिखेगी। मेडबोर्ड सेगमेंट में Medi Assist Healthcare Services अपना 1,172 करोड़ रुपये का IPO ला रही है। यह 15 जनवरी को खुलेगा। इसके लिए प्राइस बैंड 397-418 रुपये प्रति शेयर है। वहीं Jyoti CNC Automation की शेयर बाजार में लिस्टिंग 16 जनवरी को होगी। SME सेगमेंट में Maxposure का IPO 15 जनवरी को खुलेगा और 17 जनवरी को क्लोज होगा। इसके अलावा Addictive Learning Technology, Konstelec Engineers, EPACK Durable के इश्यू 19 जनवरी को खुलेंगे। पहले से खुले आईपीओ में Shree Marutinandan Tubes, New Swan Multitech, और Australian Premium Solar (India) के IPOs नए सप्ताह में क्लोज होंगे। लिस्टिंग की बात करें तो IBL Finance 16 जनवरी को शेयर बाजार में एंट्री करेगी। New Swan Multitech और Australian Premium Solar (India) की लिस्टिंग 18 जनवरी को होगी।

टेक्निकल व्यू

निफ्टी50 ने आखिरकार 21,750 पर डाउनवर्ड स्लोपिंग रेजिस्टेंस ट्रेंडलाइन को तोड़ते हुए 21,928 की एक नई ऊंचाई को ट्रिगर किया है। साथ ही लगातार दूसरे सत्र के लिए हायर हाई और हायर लो जारी है। सप्ताह के दौरान, सूचकांक में लंबी लोअर शैडोज के साथ बुलिश कैंडलिस्टिक फॉर्मेशन देखी गई। इसलिए, तकनीकी रूप से विशेषज्ञों को उम्मीद है कि निफ्टी50 कंसोलिडेशन मोड में आने से पहले 22,000-22,100 क्षेत्र की ओर बढ़ेगा।

RDC Concrete जनवरी 2025 में लाएगी IPO, 4000 करोड़ रुपये जुटा सकती है कंपनी

कॉरपोरेट एक्शंस

अगले सप्ताह के प्रमुख कॉरपोरेट एक्शंस इस तरह हैं…

Image1412012024

Disclaimer: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है। यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें। मनीकंट्रोल की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )