Daily Voice : IT सेक्टर में जोरदार रिकवरी की उम्मीद, इस सेक्टर में जोखिम और अवसर दोनों

Daily Voice : IT सेक्टर में जोरदार रिकवरी की उम्मीद, इस सेक्टर में जोखिम और अवसर दोनों

[ad_1]

आईटी दिग्गजों के दिसंबर 2023 तिमाही के नतीजों के बाद राइट रिसर्च, पीएमएस की सोनम श्रीवास्तव ने मनीकंट्रोल से बात करते हुए कहा कि मैक्रोइकोनॉमिक अनिश्चितताओं और आईटी खर्च पर इनके असर को देखते हुए आईटी सेक्टर को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। इस सेक्टर में जोखिम और अवसर दोनों देखने को मिल रहे हैं। बाजार आने वाली तिमाहियों में आईटी सेक्टर के फिर से तेजी पकड़े की उम्मीद कर रहा है। सोनम का मानना है कि इस उम्मीद को ध्यान में रखते हुए इन स्तरों पर आईटी एक अच्छा वैल्यू पिक हो सकता है।

2024 में मिलेगा हल्का रिटर्न

इक्विटी और कैपिटल मार्केट का 10 सालों से ज्यादा का अनुभव रखने वाली सोनम को लगता है कि 2024 के भारतीय इक्विटी बाजारों के लिए हल्की ग्रोथ वाला साल रहेगा।

टेक्नोलॉजी शेयरों में रिकवरी की उम्मीद

टेक्नोलॉजी शेयरों पर बात करते हुए सोनम ने कहा कि टोक्नोलॉजी सेक्टर ग्लोबल मंदी, महंगाई के दबाव और भू-राजनीतिक तनाव जैसी तमाम चुनौतियों का सामना करने के बाद फिर से पटरी पर आने के संकेत दे रहा है। ऐसा लग रहा है कि ये सेक्टर अब तमाम निगेटिव फैक्टर्स को पचा कर आगे बढ़ने के लिए तैयार है। क्लाउड कंप्यूटिंग, एआई और डिजिटल ट्रांसफार्मेशन की मांग में मजबूती देखने को मिल रही ये आईटी शेयरों के लिए अच्छे संकेत हैं। लॉन्ग टर्म में इस सेक्टर में हमें अच्छी तेजी देखने को मिलेगी।

 आईटी सेक्टर में जोखिम और अवसर दोनों

इस बातचीत में सोनम ने आगे कहा कि आईटी दिग्गज टीसीएस, इंफोसिस और विप्रो के तीसरी किमाही नतीजे इस सेक्टर की वर्तमान स्थिति और आगे की संभावनाओं की तस्वीर पेश करते हैं। टीसीएस और इंफोसिस ने चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के भी मजबूती दिखाई है। इन नतीजों से पता चलता है कि आईटी सेक्टर अभी भी संकट के दायरे से बाहर नहीं हैं। लेकिन ये कंपनियां परिचालन क्षमता, लागत अनुकूलन और डिजिटल ट्रांफार्मेशन और क्लाउड सर्विसेज जैसे हाई ग्रोथ वाले क्षेत्रों पर फोकस जरिए अपने कारोबारी को बढ़ा रही है। इस सेक्टर के मजबूत ऑर्डर बुक को देखते हुए लगता है कि आगे इनकी मांग में तेजी देखने को मिलेगी। हालांकि मैक्रोइकोनॉमिक अनिश्चितताओं और आईटी खर्च पर इनके असर को देखते हुए आईटी सेक्टर को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। इस सेक्टर में जोखिम और अवसर दोनों देखने को मिल रहे हैं।

एचडीएफसी बैंक के फंडामेंटल मजबूत, शॉर्ट टर्म में देखने को मिल सकता है दबाव

एचडीएफसी बैंक पर बात करते हुए सोनम ने कहा कि तीसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक के मुनाफे में सालाना आधार पर 32.5 फीसदी और ब्याज आय में 26.8 फीसदी की मजबूत बढ़त की उम्मीद है। बैंकिंग सेक्टर वर्तमान में बढ़ती जमा लागत और मार्जिन पर संभावित दबाव के डर से गुजर रहा है जो निवेशकों के उत्साह को कम कर सकता है। इसके अलावा, दूसरे प्रतिस्पर्धियों की तुलना में बैंक का प्रदर्शन और बाजार धारणा इस स्टॉक मूवमेंट को प्रभावित करेगी। हालांकि एचडीएफसी बैंक के फंडामेंटल मजबूत हैं लेकिन ये बाहरी कारण स्टॉक की शॉर्ट टर्म बढ़त को रोक सकते हैं।

चाइनीज बाजार पर कायम रह सकता है दबाव

चीन के बाज़ार पर बात करते हुए सोनम ने कहा कि MSCI चाइना इंडेक्स से पता चलता है चीन के शेयरों में काफी गिरावट आई है। ऐसे में चाइनीज शयरों का वैल्यूएशन अच्छा लग रहा है। ऐसे में चाइनीज बाजारों की तरफ निवशकों का रुझान बढ़ सकता है। हालांकि चीन के बाजीर में की दिक्कतें बनी हुई हैं जो इसकी संभावनाओं के धूमिल करती हैं। चीनी अर्थव्यवस्था अभी भी अपने रियल एस्टेट ऋण संकट के नतीजों से निपट रही है और रेग्यूलेटरी बदलावों और कंज्यूमर कॉन्फिडेंस से संबंधित चुनौतियों का सामना कर रही है। इसके अलावा बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में महंगाई की स्थिति और मौद्रिक नीति में बदलाव जैसे कारण भी चीनी बाजारों के प्रति निवेशकों की भावना को प्रभावित कर सकते हैं।

82 स्मॉलकैप शेयरों में दिखी 10-39% की तेजी, जानिए अगले हफ्ते कैसी रह सकती है बाजार की चाल

दिसंबर के महंगाई आंकड़ों पर बात करते हुए सोनम ने कहा कि दिसंबर के महंगाई आंकड़े और नवंबर के मैन्युफैक्चरिंग आंकड़े भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने खड़ी चुनौतियों को दर्शाते हैं। दिसंबर में महंगाई चार महीने के उच्चतम स्तर 5.69 फीसदी पर पहुंच गई है। ये उपभोक्ता कीमतों पर लगातार बेन दबाव का संकेत है। महंगाई आरबीआई की लक्ष्य सीमा से थोड़ा ऊपर बनी हुई है। इस निरंतर नजरें बनाए रखने की जरूरत है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )