Budget 2024: बजट से पहले वोलेटाइल मार्केट में काम करेगी बियर पुट स्प्रेड रणनीति- एंजेल वन के समीत चव्हाण

Budget 2024: बजट से पहले वोलेटाइल मार्केट में काम करेगी बियर पुट स्प्रेड रणनीति- एंजेल वन के समीत चव्हाण

[ad_1]

Union budget 2024 : नवंबर में शुरू हुई मजबूत तेजी के बाद, जनवरी 2024 के मध्य से भारतीय शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिल रही है। पिछल हफ्ते बाजार में काफी मुनाफा वसूली देखने को मिली। एचडीएफसी बैंक के निराशाजनक प्रदर्शन के कारण बाजार पर दबाव बना है। बेंचमार्क निफ्टी इंडेक्स में 35 फीसदी वेटेज रखने वाले बैंकिंग सेक्टर ने बाजार पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया है। अब निवेशकों की नजर 1 फरवरी को पेश होने वाले अंतरिम बजट पर नजर बनी हुई। ऐसे में आइए एंजेल वन के समीत चव्हाण के बजट-पूर्व स्थिति के विश्लेषण पर एक नजर डालते हैं।

समीत चव्हाण का कहना है डेरीवेटिव मार्केट की गतिविधियों से संकेत मिलता है कि बाजार में हाल में करेक्शन में सबसे ज्यादा योगदान लॉन्ग अनइंडिंग को जाता है। हाल के दिनों में बैंकिंग इंडेक्स में मंदी के दांव में काफी बढ़त हुई, जिसमें एक ही टाइम फ्रेम में ओपन इंटरेस्ट में 40 फीसदी से ज्यादा की बढ़त हुई है। अगली सारीज के लिए बैंक निफ्टी में शॉर्ट पोजीशन में भारी बढ़त, बजट घोषणा से पहले निवेशकों की खास रणनीति का संकेत है।

एफआईआई रहे नेट सेलर

लगातार खरीदारी के बाद, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) इस महीने इक्विटी मार्केट में नेट सेलर रहे है। इन्होंने जनवरी में अब तक भारतीय बाजार में 26,700 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं। इसमें भी सबसे ज्यादा बिकवाली बैंकिंग शेयरों में हुई है। बैंकों में भी एचडीएफसी बैंक िस बिकवाली का सबसे बड़ा शिकार बना है। इस स्टॉक में मार्च 2020 के बाद पहली बार सबसे खराब मंथली गिरावट देखने को मिली है।

एफआईआई ने अपनी लॉन्ग पोजीशंस में भी कटौती की और इंडेक्स फ्यूचर्स सेगमेंट में शॉर्ट पोजीशन बढ़ाई। उनका लॉन्ग-शॉर्ट रेशियो 70 फीसदी से गिरकर 47 फीसदी हो गया है। ये ओवरबॉट स्थिति से आए पूर्ण बदलाव का संकेत है।

शिखर के करीब बाजार : निवेशकों को मुनाफावसूली करनी चाहिए या करना चाहिए होल्ड ?

वोलैटिलिटी इंडेक्स में उछाल

शॉर्ट टर्म में वोलैटिलिटी की स्थित बताने वाला इंडीकेटर इंडिया VIX में बढ़त देखने को मिल रही है। ये 17 अंक से अधिक के उछाल के साथ बाजार के लिए एक चेतावनी का संकेत दे रहा है।

खतरे में मनोवैज्ञानिक सपोर्ट

इन आंकड़ों को ध्यान में रखते हुए देखें तो निफ्टी पर 21,000 का मनोवैज्ञानिक सपोर्ट स्तर ख़तरे में दिख रहा है। ऐसे में शॉर्ट टर्म में निफ्टी के लिए ऊपर की तरफ 21,500-21,750 के स्तर को पार करना एक कठिन काम होगा।

बजट पूर्व स्थिति

समीत चव्हाण का कहना है कि केंद्रीय बजट सत्र के चलते आम तौर पर बाजार में वोलैटिलिटी में बढ़त देखने को मिलती है। लेकिन अंतरिम बजट होने के कारण आगामी बजट में किसी बड़े एलान की उम्मीद नहीं है। पिछले हफ्ते बाजार में मुनाफावसूली देखने को मिली थी। यह ट्रेंड वर्तमान हफ्ते में भी बनी हुई है। डेरिवेटिव आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि बैंकिंग इंडेक्स में काफी शॉर्ट पोजिशन देखने को मिली है। साथ ही विदेशी संस्थागत निवेशक इंडेक्स फ्यूचर्स में काफी बिकवाली करते दिखे हैं। ये बाजार के लिए एक निगेटिव संकेत है। इन स्थितियों को ध्यान में रखते हुए समीत चव्हाण ने किसी एक दिशा में आक्रामक पोजीशन लेने से बचने की सलाह दी है। उनका कहना है कि इस समय निफ्टी में बियर पुट स्प्रेड रणनीति का इस्तेमाल करना सबसे बेहतर रणनीति होती। यह एक हल्की बियरिश रणनीति होती है जिसमें सीमित मुनाफे के साथ सीमित हानि की संभावना होती है।

निफ्टी में बियर पुट स्प्रेड: समीत चव्हाण की रिकमेंडेड डेरिवेटिव रणनीति

निफ्टी वर्तमान में 21,300 के आसपास मंडरा रहा है। ऐसे में 21,200 पुट खरीदने और साथ ही 21,000 पुट बेचने की सलाह होगी। इस बियर पुट स्प्रेड रणनीति के लिए रिस्क-रिवार्ड रेशियो लगभग 1:2.3 है। इससे ट्रेडर्स के लिए यह एक आकर्षक विकल्प बन जाता है।

ट्रेडर्स के लिए समीत चव्हाण की सलाह

चव्हाण ने ट्रेडर्स को बजट सत्र में सतर्क रहने की सलाह दी है। उनका मानना है कि चूंकि यह एक अंतरिम बजट है, इसलिए इसमें बड़े सुधारों और एलानों की उम्मीद नहीं है। बाजार को लिए ये बजट नान-इवेंट हो सकता है। इस दौरान ग्लोबल बाजार में होने वाली घटनाओं पर नजर रखना चाहिए। आने वाले हफ्तों में हमारे बाजार के की दिशा तय करने में ग्लोबल संकेत अहम भूमिका निभा सकते हैं।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )