Budget से नहीं मिला Realty Stocks को सपोर्ट, लेकिन यह शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई पर

Budget से नहीं मिला Realty Stocks को सपोर्ट, लेकिन यह शेयर रिकॉर्ड ऊंचाई पर

[ad_1]

Budget 2024 effect on Realty Stocks: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने आज मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया। इस बजट को लेकर रियल्टी सेक्टर को काफी उम्मीदें थीं। चूंकि यह अंतरिम बजट था तो इसमें बहुत बड़े ऐलान नहीं हुए जिसके चलते रियल्टी सेक्टर की कंपनियों के शेयर भरभराकर गिर पड़े। कैपिटल एक्सपेंडिचर में 11.11 फीसदी की बढ़ोतरी तो हुई लेकिन यह मार्केट की उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा। ऐसे में रियल्टी सेक्टर के शेयर 3 फीसदी तक टूट गए।

एक शेयर स्वान एनर्जी (Swan Energy) का है जो डेढ़ फीसदी से अधिक मजबूत तो हुआ है लेकिन इसकी वजह कंपनी की दिसंबर तिमाही के मजबूत नतीजे हैं। दिसंबर तिमाही में कंपनी को 220 करोड़ रुपये का कंसालिडेटेड नेट प्रॉफिट हुआ जबकि दिसंबर 2022 तिमाही में इसे 15.7 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

Budget के दिन डूबे निवेशकों के ₹35000 करोड़, इस कारण फिसला Sensex-Nifty

Realty Stocks का Budget के दिन ऐसा रहा हाल

बजट के दिन आज S&P BSE Realty के सिर्फ दो शेयर स्वान एनर्जी (Swan Energy) और लोढ़ा (Lodha) ही ग्रीन जोन में हैं। स्वान एनर्जी तो उछलकर इंट्रा-डे में 666.15 रुपये की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया। वहीं फीनिक्स 3 फीसदी और ब्रिगेड ढाई फीसदी टूट गया। इसके अलावा प्रेस्टिज 2 फीसदी से अधिक, सोभा करीब 2 फीसदी, ओबेरॉय रियल्टी डेढ़ फीसदी से अधिक, गोदरेज ग्रुप 0.80 फीसदी, डीएलएफ 0.44 फीसदी और महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स के शेयर 0.30 फीसदी टूटकर बंद हुए हैं।

Sensex-Nifty during FM Speech: निर्मला सीतारमण की बजट स्पीच में ऐसे चढ़ा-उतरा मार्केट, इस फैक्टर ने भी डाला असर

दो वजहों से बना रियल्टी शेयरों पर दबाव

रियल्टी शेयर पर आज सिर्फ बजट के ऐलानों का ही नहीं बल्कि अमेरिकी फेड के फैसले का भी असर पड़ा। अमेरिकी फेड के फैसले से इस बात का संकेत मिल रहा है कि अगले महीने मार्च में दरों में कटौती नहीं होगी। इसकी वजह से सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर के अधिकतर बाजारों में भी बिकवाली का दबाव दिखा। फिच का कहना है कि जून या जुलाई से पहले दरों में कटौती की उम्मीद नहीं है। हालांकि फेड चेयरमैन ने यह जरूर कहा कि दरें बढ़ने का दौर खत्म हुआ और डेटा देखकर कटौती का फैसला लिया जाएगा।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )