BPCL के शेयर पर ब्रोकरेज फिदा, दिसंबर तिमाही में मिली सबसे अधिक ‘Buy’ रेटिंग, जानें कारण

BPCL के शेयर पर ब्रोकरेज फिदा, दिसंबर तिमाही में मिली सबसे अधिक ‘Buy’ रेटिंग, जानें कारण

[ad_1]

BPCL Share Price: दिसंबर तिमाही के दौरान क्रूड ऑयल की कीमतों में करीब 20 प्रतिशत की गिरावट आई। इसके चलते भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (BPCL) का शेयर ब्रोकरेज फर्मों का पसंदीदा स्टॉक बन गया। दिसंबर तिमाही में यह शेयर करीब 30 प्रतिशत चढ़ चुका है। 1 जनवरी तक के आंकड़ों के मुताबिक, बीपीसीएल को ट्रैक करने वाले 34 एनालिस्ट्स में से 25 ने इसे ‘Buy’ रेटिंग दी हुई, जबकि एक तिमाही पहले तक यह आंकड़ा 21 एनालिस्ट्स का था। वहीं स्टॉक्स पर होल्ड रेटिंग देने वाले एनालिस्ट्स की संख्या 8 से घटकर 4 हो गई है। इसका 12 महीने का औसत टारगेट प्राइस 452.53 रुपये है। मनीकंट्रोल के एनालिस्ट ट्रैकर से यह जानकारी मिली है।

दिसंबर तिमाही में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई और यह फिलहाल 75 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रही है। यह सितंबर में देखे गए 95 डॉलर प्रति बैरल के भाव से काफी कम है। क्रूड ऑयल की मांग में गिरावट और इजराइल-हमास संघर्श के न्यूनतम असर के चलते इसके कीमतों में यह गिरावट आई है।

ब्रोकरेज फर्मों ने मजबूत बैलेंस शीट और कच्चे तेल की कम कीमतों के कारण हाल ही में ऑयल मार्केटिंग कंपनियों के स्टॉक को अपग्रेड किया है। रिफाइनिंग का बेहतर प्रदर्शन और सस्ते रूसी कच्चे तेल तक पहुंच से इन फर्मों को लाभ होने की उम्मीद है। एनाालिस्ट्स का सुझाव है कि स्थिर मार्जिन वातावरण से आने वाला अतिरिक्त फंड अधिक डिविडेंड भुगतान और कैपिटल एक्सपेंडिचर की ओर ट्रांसफर हो सकता है।

यह भी पढ़ें- Tata Motors के शेयरों में जबरदस्त तेजी, जेपी मॉर्गन ने 36% बढ़ा दिया टारगेट प्राइस, जानें कारण

BoB कैपिटल ने कहा कि ऑयल मार्केटिंग कंपनियों के स्टॉक में आई हालिया तेजी टिकाऊ मार्जिन विस्तार के चलते आई है। ब्रोकरेज को उम्मीद है कि चुनाव के बाद ऑयल कंपनियों को तेल की कीमत तय करने की स्वतंत्रता मिलेगी, जो इनके स्टॉक्स के लिए एक अहम ट्रिगर हो सकता है।

कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के अलावा, ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को सितंबर तिमाही में मजबूत प्रदर्शन से फायदा हुआ। भारतीय रिफाइनर्स वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में 27,295 करोड़ रुपये के संयुक्त शुद्ध लाभ के साथ मुनाफे में लौट आए। भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने सितंबर को समाप्त तिमाही में क्रमश: 8,501 करोड़ रुपये और 5,827 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )