#BoycottZerodha पर ब्रोकरेज ने कहा – बड़ी संख्या में आये मैसेजेस बॉट्स, असंबंधित खातों से रहे

#BoycottZerodha पर ब्रोकरेज ने कहा – बड़ी संख्या में आये मैसेजेस बॉट्स, असंबंधित खातों से रहे

[ad_1]

प्रमुख ब्रोकरेज फर्म Zerodha का कहना है कि, 1 फरवरी को #BoycottZerodha ट्रेंड कराने वाले बड़ी संख्या में सोशल मीडिया के पोस्ट बॉट्स से आए हुए प्रतीत होते हैं। “पिछले चार महीनों में हमें कुछ तकनीकी गड़बड़ियों का सामना करना पड़ा है। जिसका पूरा विवरण पहले ही स्टॉक एक्सचेंज के साथ साझा किया जा चुका है। ये हमारी वेबसाइट पर डिस्क्लोजर पेज पर भी उपलब्ध है। ये घटनाएं एक विशिष्ट ग्राहक की घटना (उपर्युक्त गड़बड़ियों से असंबंधित) के साथ जुड़ी हुई हैं। इसकी वजह से सोशल मीडिया पर ये प्रचारित हो गईं। ऐसा जेरोधा (Zerodha) ने मनीकंट्रोल (Moneycontrol) के सवालों के जवाब में एक ईमेल में लिखा है।

उन्होंने आगे कहा, “हालांकि हमारे कुछ ग्राहक जो पूर्व में प्रभावित हुए हैं, उन्होंने ट्वीट किया है। लेकिन बड़ी संख्या में ये मेसेजेस सामान्य रूप से जेरोधा या बाजारों से असंबंधित बॉट्स/एकाउंट्स से आए हैं।”

यह तब ट्रेंड में आया जब एक ट्रेडर जयराज पाटिल (Jayraj Patil) ने बताया कि ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म का उपयोग करते समय तकनीकी व्यवधान का सामना करने के बाद उन्हें 37,000 रुपये का नुकसान हुआ।

पाटिल ने मनीकंट्रोल को बताया था कि वह नहीं देख सके कि नई पोजीशंस ली गई। जब उन्होंने देखा कि ऐसा हुआ है तब तक उन्हें इससे बड़ा नुकसान हुआ था। उस समय वे प्लेटफॉर्म पर एरर मैसेज (error message) भेजकर उससे बाहर भी नहीं निकल सके।

ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म पर तकनीकी गड़बड़ियां (tech glitches) बढ़ने और ट्रेडर्स को नुकसान होने के कारण, एक्सचेंजों को इनवेस्टर रिस्क रिडक्शन एक्सेस (Investor Risk Reduction Access (IRRA) प्लेटफॉर्म सेट अप करने के लिए कहा गया था। इस प्लेटफॉर्म को अक्टूबर 2023 में लॉन्च किया गया था।

20 दिसंबर को, जब पाटिल को समस्या का सामना करना पड़ा था तो विकल्प के रूप में IRRA का एक्सेस प्रदान नहीं किया गया था।

Bulk deals: पीबी फिनटेक, प्रिकॉल टूरिज्म फाइनेंस और कॉर्ड्स केबल इंडस्ट्रीज में हुई बड़ी खरीद-फरोख्त

यह पूछे जाने पर कि ऐसा क्यों था, Zerodha ने कहा कि चूंकि कोई तकनीकी गड़बड़ी नहीं थी, इसलिए उस दिन IRRA में शिफ्ट होने की कोई आवश्यकता नहीं थी।

इसमें कहा गया, “ग्राहकों को उस दिन ऑर्डर देने में कोई कठिनाई नहीं हुई।” लेकिन ट्विटर पर उस दिन बैंक निफ्टी की एक्सपायरी के दिन, ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म में समस्याओं के बारे रिपोर्ट करने वाले लोगों के पोस्ट सामने आये थे।

Zerodha ने अपने बयान में कहा कि IRRA को केवल प्राथमिक और डीआर डेटा केंद्रों (DR data centres) की महत्वपूर्ण विफलता के मामले में एक ट्रेडिंग मेंबर द्वारा लागू किया जाता है।

इसमें कहा गया है, “सभी सेगमेंट्स में ट्रेडिंग को IRRA में शिफ्ट करने की कंडीशंस होती हैं। एक ट्रेडिंग मेंबर किसी विशिष्ट सेगमेंट के लिए IRRA लागू नहीं कर सकता है। इसके अलावा, IRRA को केवल तभी लागू किया जा सकता है जब तकनीकी गड़बड़ी (इक्विटी सेगमेंट के लिए )13:00 बजे से पहले होती है। नियम के मुताबिक IRRA को बाजार के बंद होने से कम से कम 2.5 घंटे पहले लागू किया जा सकता है।”

पाटिल को दोपहर 3 बजे के बाद समस्या का सामना करना पड़ा था।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )