₹1.12 लाख करोड़ के एक्स्ट्रा शेयर, तीन महीने में इन 54 कंपनियों की बढ़ जाएगी लिक्विडिटी

₹1.12 लाख करोड़ के एक्स्ट्रा शेयर, तीन महीने में इन 54 कंपनियों की बढ़ जाएगी लिक्विडिटी

[ad_1]

स्टॉक मार्केट में 54 कंपनियों के 1352 करोड़ डॉलर (1.12 लाख करोड़ रुपये) के शेयरों का फ्लो बढ़ने वाला है। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि इन पर अभी लॉक-इन लगा हुआ है यानी कि जिन शेयरहोल्डर्स के पास ये शेयर हैं, वे इसे बेच नहीं सकते हैं लेकिन अब यह लॉक इन खत्म होने वाला है। यह आंकड़ा आज नुवामा अल्टरेनिटव एंड क्वांटिटेटिव रिसर्च ने एक रिपोर्ट में जारी किया है। रिपोर्ट के मुताबिक इन शेयरों का लॉक इन अब से लेकर 15 अप्रैल तक खत्म होगा। हालांकि ध्यान देने वाली बात ये भी है कि ये सभी शेयर बिक्री के लिए नहीं मार्केट में नहीं आएंगे क्योंकि इन शेयरों का एक बड़ा हिस्सा प्रमोटर और समूह के पास भी है।

शेयरों के लिए कितना होता है लॉक-इन

लॉक-इन पीरियड का मतलब उस टाइम पीरियड से होता है जिसनें निवेश घटाया नहीं जा सकता है। बाजार नियामक सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने अलग-अलग प्रकार के निवेशकों के लिए अलग-अलग लॉक-इन सेट किया हुआ है। जैसे कि एंकर निवेशकों के लिए बात करें तो 50 फीसदी शेयरों का लॉक-इन शेयर अलॉटमेंट की तारीख से 90 दिनों का होता है और बाकी 50 फीसदी शेयरों के लिए 30 दिनों का। नॉन-प्रमोटर्स के लिए यह लॉक-इन पीरियड 6 महीने और प्रमोटर्स के लिए 18 महीने का होता है।

TCS Q3 Result: रेवेन्यू में 4% का उछाल, ₹27 के डिविडेंड का यह रिकॉर्ड डेट फिक्स

किन शेयरों का खत्म हो रहा लॉक-इन

1 महीने का लॉक-इन

अगले हफ्ते 17 जनवरी को इंडिया शेल्टर फाइनेंस में 3 फीसदी और DOMS इंडस्ट्रीज में 6 फीसदी हिस्सेदारी का लॉक-इन खत्म होगा। आईनॉक्स इंडिया, सूरज एस्टेट, मोतीसंस ज्वैलर्स, मुथूट माइक्रोफाइनेंस, हैप्पी फोर्जिंग्स, आरबीजेड ज्वैलर्स, आजाद इंजीनियरिंग, इनोवा कैपटैब में 18 जनवरी से 26 जनवरी के बीच 3-5 फीसदी हिस्सेदारी का लॉक-इन खत्म होगा।

स्टार्टअप को नहीं होगी फंड की किल्लत, Softbank फिर मैदान में, कम से कम इतना मिलेगा निवेश

3 महीने का लॉक-इन

टाटा टेक, आईआरएम एनर्जी, ब्लू जेट हेल्थ, सेलो वर्ल्ड, ईएसएएफ स्मॉल फाइनेंस बैंक, होनासा कंज्यूमर, एएसके ऑटोमोटिव, फेडबैंक फाइनेंशियल सर्विसेज, गांधार ऑयल रिफाइनरी, फ्लेयर राइटिंग उन 22 शेयरों में शामिल हैं, जिनमें 2-5 फीसदी हिस्सेदारी का लॉक-इन 22 जनवरी से 26 मार्च के बीच खत्म होने वाला है।

Q3 के शानदार नतीजे पर शेयर एक साल के हाई पर, HDFC AMC के लिए दमदार रही दिसंबर तिमाही

5 और 6 महीने का लॉक-इन

इस कैटेगरी में रत्नवीर प्रिसिजन, आरआर कबेल, साम्ही होटल्स, यात्रा ऑनलाइन, जेएसडब्ल्यू इंफ्रा, साई सिल्क्स (कलामंदिर), सिग्नेचर ग्लोबल, प्लाजा वायर्स, टीवीएस सप्लाई चेन, जैगल प्रीपेड और ईएमएस समेत 34 स्टॉक हैं।

18 महीने का लॉक-इन

आईआरएफसी, ड्रीमफॉक्स सर्विसेज, हर्ष इंजीनियर्स और इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट में 18 महीने का लॉक-इन खत्म होने वाला है।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )