लगातार 6 दिनों की तेजी के बाद दिखी मुनाफावसूली, लेकिन ट्रेंड में बदलाव के संकेत नहीं : एक्सपर्ट्स

लगातार 6 दिनों की तेजी के बाद दिखी मुनाफावसूली, लेकिन ट्रेंड में बदलाव के संकेत नहीं : एक्सपर्ट्स

[ad_1]

16 जनवरी को सुबह के कारोबार इक्विटी बेंचमार्क 30 शेयरों का पैक सेंसेक्स और ब्रॉड-बेस्ड निफ्टी गिर गए जिससे छह दिन की तेजी का सिलसिला टूट गया। निवेशकों ने रिकॉर्ड तेजी के बाद आज सुबह के कारोबारी सत्र में मुनाफावसूली की। फिसहाल 11.50 बजे के आसपास निफ्टी 9.20 अंक यानी 0.04 फीसदी की गिरावट के साथ 22,091.30 पर और सेंसेक्स करीब 30 अंक यानी 0.05 फीसदी की कमजोरी के साथ 73,299.27 के स्तर पर दिख रहे थे।

हालांकि, इक्विटी बाजार के जनकारों का कहना है कि रुझान में बदलाव (ट्रेंड रिवर्सल) अभी शुरू नहीं हुआ है और सही समय पर करेक्शन से बाजार आगे की रैली के लिए हेल्दी हो जाएगा। आज के कारोबारी सत्र में सेंसेक्स पैक में एचसीएल टेक, विप्रो और टेक महिंद्रा सबसे ज्यादा गिरावट वाले शेयर रहे हैं। वहीं, टाटा मोटर्स, बजाज ट्विन्स और जेएसडब्ल्यू स्टील में तेजी देखने को मिली है।

नेक्स स्टॉप 22,300?

विश्लेषकों को उम्मीद है कि पिछले दिन नई ऊंचाई पर बंद हुआ निफ्टी अभी और तेजी पकड़ेगा। च्वाइस ब्रोकिंग के रिसर्च एनालिस्ट मंदार भोजने का कहना है कि आने वाले सत्रों में निफ्टी 22,300 तक जाता दिख सकता है। नतीजों का मौसम अच्छा रहने की उम्मीद है इससे बाजार को सपोर्ट मिलेगा। उनका मानना है कि निफ्टी के लिए ऊपर की ओर 22,300 और 22,500 पर रजिस्टेंस दिख रहा है। जबकि, नीचे की तरफ इसके लिए 21,800 पर तत्काल सपोर्ट है।

निफ्टी इस समय मार्च 2020 के 7,511 के कोविड लो से तीन गुना ऊपर है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के वीके विजयकुमार का कहना है कि यह एक मजबूत तेजी के बाजार का संकेत है और इसे अभी लंबा रास्ता तय करना है। हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि अब यहां से आने वाली रैली एकतरफा नहीं होगी। वैल्यूएशन महंगा होने के कारण तेज करेक्शन की संभावना है।

उन्होंने आगे कहा कि भूराजनीतिक घटनाक्रम बाजार में करेक्शन ला सकता है। हालांकि, इज़राइल-गाजा युद्ध जैसी हालिया भू-राजनीतिक घटनाओं ने कच्चे तेल की कीमतों या बाजारों पर अभी कोई प्रभाव नहीं डाला है। इसी तरह, लाल सागर में चल रही झड़पें भी बाज़ार को नुकसान पहुंचाए बिना गुज़र सकती हैं। लेकिन निकट भविष्य संघर्ष बढ़ने की चिंता है। इसलिए लाल सागर में होने वाली घटनाओं पर नज़र रखें।

Nifty IT अगली तिमाही तक रिकॉर्ड हाई को पार करने की कर सकता है कोशिश, इन 3 शेयरों पर रहे फोकस : मिलन वैष्णव

भारत का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक आज अपने तिमाही नतीजे जारी करेगा। मनीकंट्रोल की तरफ से कराए गए पोल में दिसंबर तिमाही में एचडीएफसी बैंक का एनआईआई 28,846 करोड़ रुपये और शुद्ध लाभ 15,910 करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया गया है।

मंदार भोजने का मानना है कि बैंक निफ्टी ब्रेकआउट के लिए तैयार है। यह 47,500 और 47,000 के बीच सपोर्ट जोन के करीब पहुंच गया है। यहां से खरीददारी आने की उम्मीद है। उम्मीद है कि ये सपोर्ट कायम रहेगा। यहां से फिर से तेजी आएगी। ऊपर की ओर बैंक निफ्टी के लिए 48,900-49,200 के स्तर पर रजिस्टेंस दिख रहा है।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )