भारतीय बॉन्ड बाजार में लगातार पैसा लगा रहे FPI, फरवरी में अब तक कितने करोड़ का किया निवेश

भारतीय बॉन्ड बाजार में लगातार पैसा लगा रहे FPI, फरवरी में अब तक कितने करोड़ का किया निवेश

[ad_1]

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPI or Foreign Portfolio Investors) एक ओर जहां भारतीय शेयरों से पैसे निकाल रहे हैं, वहीं दूसरी ओर भारतीय डेट/बॉन्ड मार्केट में लगातार निवेश कर रहे हैं। इस साल जून से जेपी मॉर्गन के बेंचमार्क एमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में भारत सरकार के बॉन्ड को शामिल किए जाने की घोषणा के बाद से बॉन्ड बाजार विदेशी निवेशकों को लगातार आक​र्षित कर रहा है। इसके अलावा भारतीय अर्थव्यवस्था का स्थिर आउटलुक भी एक वजह है। एफपीआई ने फरवरी माह में अब तक भारत के डेट/बॉन्ड बाजार में शुद्ध रूप से 15,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है।

इससे पहले एफपीआई ने जनवरी में बॉन्ड बाजार में 19,836 करोड़ रुपये डाले थे, जो पिछले 6 साल में किसी एक महीने में एफपीआई की ओर से किया गया सबसे ज्यादा निवेश रहा। इससे पहले जून, 2017 में एफपीआई ने बॉन्ड बाजार में 25,685 करोड़ रुपये का निवेश किया था। आंकड़ों के मुताबिक, एफपीआई ने 9 फरवरी तक बॉन्ड बाजार में शुद्ध रूप से 15,093 करोड़ रुपये का निवेश किया है। इसके साथ ही 2024 में एफपीआई का कुल निवेश 34,930 करोड़ रुपये से अधिक हो गया है। विदेशी निवेशक पिछले कुछ माह से बॉन्ड बाजार में लगातार पैसा लगा रहे हैं। दिसंबर, 2023 में उन्होंने बॉन्ड बाजार में 18,302 करोड़ रुपये, नवंबर में 14,860 करोड़ रुपये और अक्टूबर में 6,381 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

शेयरों से FPI ने कितने निकाले

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, फरवरी 2024 में अभी तक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शेयरों से 3,000 करोड़ रुपये से अधिक निकाले हैं। इससे पहले जनवरी में उन्होंने शेयरों से 25,743 करोड़ रुपये की भारी निकासी की थी। एफपीआई की ओर से शेयरों से पैसे निकालने की प्रमुख वजह भारतीय शेयर बाजार की ऊंची वैल्यूएशन और अमेरिका में बॉन्ड पर बढ़ती यील्ड है। इसके अलावा ब्याज दर सिनेरियो को लेकर अनिश्चितता भी एक वजह है।

जेपी मॉर्गन चेज एंड कंपनी ने पिछले साल सितंबर में घोषणा की थी कि वह जून 2024 से भारत सरकार के बॉन्ड को अपने बेंचमार्क एमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में शामिल करेगी। इस ऐतिहासिक कदम से इसके बाद के डेढ़ से दो साल में भारत को 20 से 40 अरब डॉलर का निवेश आकर्षित करने में मदद करेगी।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )