बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट, HDFC बैंक में भारी बिकावली, ‘बबल जोन’ में मिड-स्मॉलकैप पॉकेट

बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट, HDFC बैंक में भारी बिकावली, ‘बबल जोन’ में मिड-स्मॉलकैप पॉकेट

[ad_1]

बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी में 18 जनवरी को लगातार तीसरे दिन गिरावट जारी है। दिसंबर तिमाही के नतीजों के बाद एचडीएफसी बैंक के शेयरों में 3 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट आई। निवेशकों को बैंक के नतीजे पसंद नहीं आए हैं। कमजोर ग्लोबल संकेतों और 5 हफ्ते को हाई पर चल रहे अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड ने गुरुवार को निवेशकों का मूड और खराब कर दिया। बाजार पर नजर रखने वालों को उम्मीद है कि आगे चलकर बिकवाली तेज होगी। लेकिन बिना रुके आई जोरदार तेजी के दौर के बाद इस करेक्शन को ‘स्वस्थ’ बताया जा रहा है।

निर्मल बंग के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट-इक्विटी डेरिवेटिव्स एंड टेक्निकल रिसर्च-रिटेल नीरव हरीश छेड़ा ने मनीकंट्रोल से हुई बातचीत में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि आने वाले दिनों में निफ्टी 21,000 के स्तर तक गिर सकता है क्योंकि इंडिया इंक ने अपने तीसरी के रिपोर्ट कार्ड की घोषणा शुरू कर दी है। इसका असर बाजार पर दिखेगा।

शेयरखान के तकनीकी अनुसंधान विश्लेषक जतिन गेडिया का भी मानना है कि प्राइस और मोमेंटम इंडीकेटर दोनों कमजोरी की ओर इशारा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “इस गिरावट पर ट्रेड करने की सबसे बेहतर रणनीति बढ़त पर रजिस्टेंस जोन (21,800 – 21,820) के पास बिकवाली होगी।”

एंजेल वन के तकनीकी विश्लेषक समीत चव्हाण ने भी ट्रेडर्स को वर्तमान में जारी गिरावट के बीच निफ्टी के लिए 21,100-21,000 जोन पर नजर रखने की सलाह दी है।

फिलहाल 9:45 बजे के आसपास निफ्टी 183.20 अंक यानी 0.85 फीसदी की गिरावट के साथ 21,385.65 के स्तर पर दिख रहा है। वहीं, सेंसेक्स 625 अंक या 0.87 फीसदी की कमजोरी के साथ 70,871.54 के स्तर पर दिख रहा है। LTIM, POWERGRID,ASIANPAINT,DIVISLAB और HDFCBANK निफ्टी के टॉप लूजर हैं। जबकि AXISBANK,BHARTIARTL,TATAMOTORS,HDFCLIFE और ICICIBANK में सबसे ज्यादा तेजी देखने को मिल रही।

एनएसी पर ट्रेड हो रहे 2,197 शयरों में से 554 शेयरों में बढ़त देखने को मिल रही है। जबकि 1,569 शेयर गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। वहीं, 74 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

बैंक निफ्टी

निफ्टी में लगभग 35 प्रतिशत वेटेज रखने वाले बैंकिंग स्टॉक कारोबार के पहले घंटे में कमजोर कारोबार कर रहे थे। एचडीएफसी बैंक और फेडरल बैंक के दबाव में 18 जनवरी की सुबह के सौदों में बैंक निफ्टी इंडेक्स 1 फीसदी गिरकर 45,430 के स्तर पर दिख रहा था। बता दें कि एचडीएफसी बैंक का बेंचमार्क निफ्टी में लगभग 14 प्रतिशत वेटेज है।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के अजीत मिश्रा का कहना है कि माहौल नकारात्मक है और सभी सेक्टरों में दबाव देखने को मिल रहा है। उम्मीद है कि बैंक निफ्टी अगले कुछ दिनों में सीमित दायरे में रहेगा क्योंकि बड़ी बैंकिंग कंपनियां तीसरी तिमाही के नतीजों की घोषणा करने वाली हैं। अगर बैंक निफ्टी आज पूरे दिन में 45,700 को संभाले रखने में विफल रहता है, तो इसमें 44,500 तक की गिरावट हो सकती है।

बैंकिंग शेयरों के अलावा, सभी सेक्टरों में बिकवाली देखने को मिल रही है। निफ्टी मीडिया, मेटल और रियल्टी इंडेक्स सबसे ज्यादा गिरे हैं। 18 जनवरी की सुबह के सौदों में उनमें 3 फीसदी तक की गिरावट आई है।

मिड-स्मॉलकैप पॉकेट ‘बबल जोन’ में

इस बीच, ब्रॉडर मार्केट ने बेंचमार्क से कमज़ोर प्रदर्शन किया है। 18 जनवरी के शुरुआती सौदों में निफ्टी मिडकैप 100 और निफ्टी स्मॉलकैप 100 इंडेक्स में 2 फीसदी की गिरावट आई। विश्लेषकों को उम्मीद है कि इन दोनों खंडों में करेक्शन गहराएगा क्योंकि वे बबल जोन में प्रवेश कर चुके हैं।

पीजीआईएम इंडिया म्यूचुअल फंड के सीआईओ विनय पहाड़िया ने चेतावनी देते हुए कहा, “हालिया तेजी के बाद आम तौर पर मिड और स्मॉलकैप ज्यादा महंगे हो गए हैं। कई कमजोर (कम ग्रोथ या गुणवत्ता वाले) मिड और स्मॉलकैप स्टॉक बबल जोन में हैं। ऐसे में सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।”

दूसरी ओर, इक्विनॉमिक्स रिसर्च के फाउंडर चोकालिंगम जी ने कहा कि आने वाले दिनों में स्मॉलकैप इंडेक्स में विशेष रूप से भारी करोक्सन देखने को मिल सकता है क्योंकि वे बेंचमार्क सेंसेक्स. के 26x पीई गुणक के मुकाबले 33 गुना (x) प्राइस-टू-अर्निंग (पीई) अनुपात पर कारोबार कर रहे हैं।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Disqus ( )