आईटी की तरह ही इंडिया में कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग में आयेगा बूम- अभय अग्रवाल, PIPER SERICA

आईटी की तरह ही इंडिया में कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग में आयेगा बूम- अभय अग्रवाल, PIPER SERICA

[ad_1]

तूफानी तेजी के बाद बाजार इन दोनों एक दायरे में घूम रहा है। ऊपरी स्तरों पर मुनाफावसूली भी आ रही है। ऐसे में लंबे समय के लिए निवेशकों को क्या करना चाहिए? किन सेक्टर्स में खरीदारी के मौके बन रहे है। इन सब पर हमारे सहयोगी चैनल सीएनबीसी-आवाज़ के BIG MARKET VOICE में PIPER SERICA के फाउंडर और फंड मैनेजर अभय अग्रवाल ने बातचीत की। बाजार पर राय देते हुए उन्होंने कहा कि लोगों का मानना है कि जनवरी में बाजार में बाजार में करेक्शन आता है। पिछले कैलेंडर वर्ष में निवेशकों को अच्छा पैसा बनाकर बाजार ने दिया है। लिहाजा उनको सलाह होगी बाजार में करेक्शन का इंतजार करें। हमारा मानना है कि बाजार फिर से एंट्री का मौका देगा।

वैल्यू और ग्रोथ दोनों खूबियों वाले स्टॉक्स की है डिमांड

उन्होंने आगे कहा कि इस समय बाजार में निवेशक ऐसे स्टॉक में निवेश करना चाह रहे हैं जिसमें वैल्यू प्लस ग्रोथ दोनों देखने को मिले। इस लिहाज से हमें रिलायंस (Reliance) का शेयर अच्छा लगता है। इसमें वैल्यू और ग्रोथ दोनों देखने मिलेगी। उन्होंने ऐसा कहते समय ये भी स्पष्ट किया कि किसी भी स्टॉक के नाम लेने का मतलब उस पर खरीदारी की सलाह देना नहीं है।

कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग में आगे काफी ग्रोथ

जैसे-जैसे इंडिया मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा वैसे-वैसे आउटसोर्स मैन्युफैक्चरर्स का बिजनेस बहुत बढ़ेगा। जैसे इंडिया में आईटी सर्विसेस प्लेआउट हुई वैसे आगे इंडिया अपने मैन्युफैक्चरिंग के लिए जाना जायेगा। हालांकि इसके बारे में अभी लोगों को विश्वास करना मुश्किल है। इसके अलावा जो इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट्स हैं कॉम्पलेक्स इंजीनियरिंग है। इसके साथ ही जो हम स्पेशल केमिकल बनाते हैं जो डिजाइन प्रोडक्ट्स बनाते हैं ये बहुत बड़ा प्ले है। इसलिए हम इस दिशा में काम करने वाली कंपनियों के स्टॉक्स को 5 से 8 साल के नजरिये से खरीद रहे हैं। डिक्सन टेक्नोलॉजीज (Dixon Technologies)और अंबर एंटरप्राइजेज (Amber Enterprises) हमारे पोर्टफोलियो में है।

बाजार बढ़त पर बंद होने से पहले एक्सपर्ट्स ने संवर्धन मदरसन, क्रॉम्पटन, आईआरसीटीसी, केएनआर कंस्ट्रक्शन में कराई खरीदारी

आईटी सेक्टर में निवेश के लिए रिजल्ट का करें इंतजार

आईटी में ज्यादा निवेश करने से बचना चाहिए। आईटी में सतर्क नजरिया अपनाना चाहिए। आईटी में निवेश करने से पहले इस सेक्टर के रिजल्ट का इंतजार करना समझदारी भरा कदम होगा। हालांकि हमारा मानना है कि बाजार में जल्दी निवेश बढ़ने की उम्मीद है। वहीं बैंकिंग सेक्टर पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी बैंकों में काफी तेजी आ चुकी है। लेकिन बड़े निजी बैंकों में अभी काफी वैल्यू है।

(डिस्क्लेमरः Moneycontrol.com पर दिए जाने वाले विचार और निवेश सलाह निवेश विशेषज्ञों के अपने निजी विचार और राय होते हैं। Moneycontrol यूजर्स को सलाह देता है कि वह कोई निवेश निर्णय लेने के पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट से सलाह लें।)

(डिस्क्लोजर: Moneycontrol.com नेटवर्क 18 का हिस्सा है। नेटवर्क 18 मीडिया एंड इनवेस्टमेंट लिमिटेड पर इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट का मालिकाना हक है। इसकी बेनफिशियरी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज है।)

[ad_2]

Source link

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Disqus ( )